पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

शरिया की स्याही बनाम परिधान अफगानी, विदेशों में बसीं अफगान महिलाओं ने पारंपरिक परिधान में साझा कीं तस्वीरें

WebdeskSep 14, 2021, 01:49 PM IST

शरिया की स्याही बनाम परिधान अफगानी, विदेशों में बसीं अफगान महिलाओं ने पारंपरिक परिधान में साझा कीं तस्वीरें
पारंपरिक अफगानी परिधानों में कुछ महिलाओं द्वारा ये तस्वीरें साझा की गईं

वेब डेस्क
 


तालिबान के बुर्के, हिजाब के फरमान के विरुद्ध पारंपरिक अफगानी परिधानों में अपनी एक से एक तस्वीरें साझा कीं। तालिबानी मुल्लाओं और उनकी मध्ययुगीन सोच के विरुद्ध यह अनोखा विरोध प्रदर्शन दुनियाभर के लोगों को रास आ रहा है। उन्होंने इन महिलाओं के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है।



स्वाभिमानी अफगान महिलाओं ने शरीयती तालिबान और उनके हिजाब व बुर्के के फरमान की धज्जियां उड़कर रख दी हैं। विदेशों में बसीं अनेक अफगान महिलाएं 13 सितम्बर को सोशल मीडिया पर छाई रहीं। उन्होंने तालिबान के बुर्के, हिजाब के फरमान के विरुद्ध पारंपरिक अफगानी परिधानों में अपनी एक से एक तस्वीरें साझा कीं। तालिबानी मुल्लाओं और उनकी मध्ययुगीन सोच के विरुद्ध यह अनोखा विरोध प्रदर्शन दुनियाभर के लोगों को रास आ रहा है और उन्होंने इन महिलाओं के प्रति अपना समर्थन व्यक्त किया है।

उल्लेखनीय है कि तालिबान लड़ाकों कहा था कि अफगानिस्तान में शरिया कानून के तहत महिलाएं हिजाब और बुर्के में ही दिखनी चाहिए।
बस इसी फरमान के विरुद्ध सोशल मीडिया पर अफगानी महिलाओं ने अभियान शुरू कर दिया। इसी अभियान के अंतर्गत अफगान मूल की ये महिलाएं पारंपरिक अफगानी परिधान पहने अपनी तस्वीरें साझा कर रही हैं। अफगानिस्तान और दूसरे देशों में रह रहीं महिलाओं ने अपनी तस्वीरों के साथ सैकड़ों ट्वीट किए हैं। अफगान महिलाओं के शुरू किए #AfghanistanCulture अभियान के अंतर्गत इन जागरूक महिलाओं ने तालिबान के जबरिया प्रतिबंधों के विरोध में तेजी लाने के लिए #AfghanistanCulture के साथ #AfghanWomen और #DoNotTouchMyClothes जैसे हैशटैग भी चलाए हुए हैं।


उल्लेखनीय है कि तालिबान लड़ाकों कहा था कि अफगानिस्तान में शरिया कानून के तहत महिलाएं हिजाब और बुर्के में ही दिखनी चाहिए। बस इसी फरमान के विरुद्ध सोशल मीडिया पर अफगानी महिलाओं ने अभियान शुरू कर दिया। इसी अभियान के अंतर्गत अफगान मूल की ये महिलाएं पारंपरिक अफगानी परिधान पहने अपनी तस्वीरें साझा कर रही हैं।

 
 

Comments

Also read: फेसबुक का एक और काला सच उजागर, रिपोर्ट का दावा-भारत में हिंसा पर खुशी, फर्जी जानकारी ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: जीत के जश्न में पगलाए पाकिस्तानी, नेताओं के उन्मादी बयानों के बाद कराची में हवाई फायर ..

शैकत और रबीउल ने माना, फेसबुक पोस्ट से भड़काई हिंदू विरोधी हिंसा
वाशिंगटन में उबला कश्मीरी पंडितों का गुस्सा, घाटी में हिन्दुओं की सुरक्षा के लिए कड़े कदम उठाने की मांग

बौखलाए 'पाक' की 'नापाक' बयानबाजी, मंसूर ने कहा, 'सीपीईसी को नुकसान पहुंचा रहा भारत-अमेरिका षड्यंत्र'!

खबर है कि चीन अब पाकिस्तान को इस परियोजना से बाहर का रास्ता दिखाने का मन बना रहा है। इसी वजह से पाकिस्तान इस वक्त इस गलियारे को लेकर सांसत में है और बौखलाहट में बेमतलब के बयान दे रहा है चीन-पाकिस्तान के बीच बड़े ढोल-धमाके के बीच जिस आर्थिक गलियारे (सीपीईसी) पर काम चल रहा था, वह ताजा जानकारी के अनुसार, पाकिस्तानी कब्जे वाले जम्मू-कश्मीर में भारी विरोध के चलते डगमगाने लगी है। पिछले दिनों चीनी इंजीनियरों पर जानलेवा हमलों के बाद बीजिंग भी पाकिस्तानी हुक्मरानों से नाराज चल रहा है। एक खबर तो यह भ ...

बौखलाए 'पाक' की 'नापाक' बयानबाजी, मंसूर ने कहा, 'सीपीईसी को नुकसान पहुंचा रहा भारत-अमेरिका षड्यंत्र'!