पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

आंतरिक मामले

''मिशनरियों के प्रोत्साहन से बाज आएं चन्नी''

Webdesk

WebdeskNov 26, 2021, 03:22 PM IST

''मिशनरियों के प्रोत्साहन से बाज आएं चन्नी''
विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन

विश्व हिंदू परिषद के संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी से कहा है कि वे ईसाई शिनरियों को प्रोत्साहन न दें, क्योंकि वे लोग भोले—भाले हिंदू और सिखों का कन्वर्जन करके देश के विरुद्ध कार्य कर रहे हैं।

नई दिल्ली। नवंबर 26, 2021। विश्व हिन्दू परिषद ने पंजाब के मोगा में हुई चंगाई सभा में जनविरोध के चलते मुख्यमंत्री सहित अन्य अतिथियों के नहीं पहुंचने देने पर स्थानीय हिन्दू-सिख समुदाय का अभिनंदन करते हुए मिशनरियों व कन्वर्जन के अड्डे बन रहे चंगाई सभाओं के सहयोगियों को चेताया है कि वे भोले—भाले हिंदुओं की आस्था से खिलवाड़ से बाज आएं। विहिप के केन्द्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेन्द्र जैन ने आज कहा है कि चंगाई सभा ईसाई मिशनरियों द्वारा धोखा देकर कन्वर्जन करने का एक अनैतिक, अवैधानिक व अपांथिक षड्यंत्र है। इसके बावजूद पंजाब के मुख्यमंत्री श्री चरणजीत सिंह चन्नी ने मोगा में चंगाई सभा के एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में रहना स्वीकार करके अपने गरिमापूर्ण पद की मर्यादा को धूमिल किया। महान गुरुओं की पावन भूमि पंजाब के धर्म प्रिय समाज ने कन्वर्जन के इस षड्यंत्र का सशक्त विरोध किया। समाज के इस विरोध के कारण मोगा में रहते हुए भी मुख्यमंत्री इस कार्यक्रम में नहीं आए और स्थानीय विधायक भी न आ सके। विहिप मोगा के सिख और हिंदू समाज का अभिनंदन करती है और विश्वास करती है कि पंजाब में चंगाई सभा का धोखा और कन्वर्जन का षड्यंत्र वहां का समाज नहीं चलने देगा।
 उन्होंने कहा कि चंगाई सभा भारतीय दंड संहिता की धारा 420 और ड्रग तथा मैजिक रेमेडी कानून 1954 के अंतर्गत दंडनीय अपराध है। यदि वे कुछ शब्दों के उच्चारण से किसी को ठीक कर सकते हैं तो दुनिया के करोड़ों मरीजों को ठीक क्यों नहीं करते? कोरोना महामारी से तो करोड़ों लोगों की मृत्यु हो गई जिनमें कई पादरी भी शामिल थे। यदि इनके पास वास्तव में कोई शक्ति है तो इन सब को क्यों नहीं बचा लिया गया? यह केवल धोखाधड़ी भरा कृत्य है जिसमें भोले—भाले लोगों को फंसा कर कन्वर्ट किया जाता है। दुर्भाग्य से मुख्यमंत्री जैसे संवैधानिक पद पर बैठे श्री चन्नी जैसे कुछ लोग इस घिनौने षड्यंत्र के भागीदार बन रहे हैं। विहिप उनको परामर्श देती है कि संविधान की रक्षा करने की अपनी शपथ का वे सम्मान बनाए रखें और कन्वर्जन की किसी गतिविधि को प्रोत्साहन न दें। विहिप समाज का आह्वान करती है कि पूरे देश में कहीं भी चंगाई सभा जैसे अपराध ना होने दिए जाएं।
डॉ जैन ने यह भी कहा कि कन्वर्जन के दुष्परिणामों के बारे में भारत से ज्यादा कौन समझता है। भारत का विभाजन, कश्मीर की समस्या, जिहादी आतंकवाद, पूर्वोत्तर का आतंकवाद व लव जिहाद जैसी समस्याएं कन्वर्जन के कारण ही हुई हैं। इसलिए विहिप केंद्र व राज्य सरकारों से अपील करती है कि वे कन्वर्जन को रोकने के लिए अविलंब कानून बनाएं जिससे भारत को कन्वर्जन के अभिशाप से मुक्त कराया जा सके। अभी तक केवल 11 राज्यों में कन्वर्जन को रोकने के लिए कानून है जबकि समस्या राष्ट्रव्यापी है जो राष्ट्र की सुरक्षा के लिए भी खतरा निर्माण कर रही है। इसलिए सभी सरकारों को सजग होकर इस दिशा में अति शीघ्र कार्यवाही करनी चाहिए। 

Comments
user profile image
अरुण कुमार शुक्ल
on Dec 02 2021 15:37:56

पंजाब मुख्यमंत्री श्री चन्नी का विरोध सिक्ख क्यों नहीं कर रहे हैं? महान गुरू नानक देव जी के शिष्य क्या ईसाई बनेंगे?? हिन्दू धर्म को बचाने वाले महान सिक्ख क्या ईसाइयों का समर्थन करेंगे???

user profile image
Anonymous
on Dec 01 2021 15:53:58

जय हिंदू राष्ट्र जय सनातन धर्म जय बाबा विश्वनाथ हिंदू पत्रिका पांचजन्य का अध्ययन संसार के समस्त हिंदुओं को आजीवन करना चाहिए हम सभी सच्चे शिव भक्त सनातन धर्म के आजीवन सनातन धर्म प्रचारक चरित्रवान हिंदू राष्ट्रवादी एक परिवार के एक समान है

user profile image
सतीश कुमार तिवारी शिक्षक
on Nov 27 2021 14:41:57

मर्द का काम है ।चवनी सा

Also read:मणिशंकर अय्यर के बिगड़े बोल, भारत को बताया अमेरिका का गुलाम ..

UPElection2022 - यूपी की जनता का क्या है राजनीतिक मूड? Panchjanya की टीम ने जनता से की बातचीत सुनिए

up election 2022 क्या कहती है लखनऊ की जनता ? आप भी सुनिए जानिए
up election 2022 opinion poll
UP Assembly election 2022

up election 2022
up election 2022 opinion poll
UP Assembly election 2022

Also read:राष्ट्रीय सुरक्षा का सवाल और पंजाब, पश्चिम बंगाल में बवाल! ..

नाम है प्रशांत, काम है अशांति फैलाना
बिहार बना लड़कियों की तस्करी का सबसे सुगम मार्ग

बिहार में फिर बम विस्फोट

बिहार में कभी मदरसे में तो कभी मस्जिद में बम मिल रहे हैं। गत दिनों दानापुर के लाल कोठी इलाके में एक घर में बम विस्फोट हुआ, जिसमें जायदा खातून और उसका बेटा अब्दुल्ला घायल हो गया। अब इस तरह की घटनाएं बराबर होने लगी हैं।  बिहार पिछले कुछ महीनों से बम धमाकों से थर्रा रहा है। एक बम धमाके की आवाज शांत नहीं होती है कि तब तक दूसरा बम धमाका हो जाता है। पहले ये धमाके कुछ वर्षों के अंतराल पर सुनाई देते थे। अब धमाके हर महीने सुनाई दे रहे हैं। इस बार बम विस्फोट पटना के दानापुर में हुआ। दानापुर के स ...

बिहार में फिर बम विस्फोट