पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

इस्लामिक स्कूल में छात्रा को डंडों से बेरहमी से पीटा शिक्षकों ने

WebdeskOct 13, 2021, 02:20 PM IST

इस्लामिक स्कूल में छात्रा को डंडों से बेरहमी से पीटा शिक्षकों ने
वीडियो से लिया गया चित्र


स्कूल ने लड़की को ऐसे घेर कर पीटने को सही भी ठहराया और कहा कि यह उन्होंने 'इस्लाम के कानून के हिसाब' से ही किया है



नाइजीरिया के एक इस्लामिक स्कूल में लड़की को चार शिक्षकों द्वारा डंडों से पीटे जाने का वीडियो दुनिया भर में तेजी से वायरल हो रहा है। दरअसल ये शिक्षक उस छात्रा को 'सजा' देते दिख रहे हैं। 'सजा' देने वाले वे चारों पुरुष शिक्षक छात्रा को घेरकर पीटते दिख रहे हैं, जबकि वहां तमाशबीनों का मजमा लगा है। इतना ही नहीं, स्कूल ने लड़की को ऐसे घेर कर पीटने को सही भी ठहराया और कहा कि यह उन्होंने 'इस्लाम के कानून के हिसाब' से ही किया है। बताते हैं, लड़की के पिता ने उस इस्लामिक स्कूल से लड़की को सजा देने को कहा था।

अफ्रीका के देश नाइजीरिया में घटी इस घटना ने दुनियाभर के लोगों को स्तब्ध कर दिया है। वीडियो में लड़की का पिता सामने बैठा अपनी बेटी को पिटते देख रहा है और उसे चार पुरुष शिक्षकों द्वारा बेहाल करने पर चुप है। बताया जा रहा है कि उस इस्लामिक स्कूल में इस तरह पिटने वाली उस लड़की के पिता ने उसे शराब पीते देख लिया था, इसीलिए उसने उसके पुरुष शिक्षकों से उसे 'सजा' देने को कहा था। बस फिर क्या था, चारों पुरुष शिक्षक डंडे लेकर उसे बेरहमी से मारने लगे।

वीडियो में ये शिक्षक बीच में बैठी लड़की को डंडे से पीटते हुए देखे जा सकते हैं। पीटते हुए वे लड़की के चारों तरफ घूम रहे हैं। उस जगह बड़ी तादाद में लोग मौजूद हैं, लेकिन उस लड़की की मदद को एक भी आगे आता नहीं दिखता। लड़की हिजाब पहने है, वह बार—बार हाथों को ऊपर करके खुद को बचाने की कोशिश करते देखी जा सकती है। लेकिन 'इस्लामिक कानून के खिलाफ किसी में बोलने या उसे बचाने की हिम्मत नहीं' दिखती। लड़की की बेरहम पिटाई से उसका हिजाब तक सिर से सरक जाता है।

डेली मेल ने भी यह खबर छापी है, जिसमें लड़की के पिता का कहना है कि उन्होंने बेटी का एक वीडियो देखा था जिसमें वह 'शराब पीती दिखी' थी। पिता ने भी कहा कि उसने ही लड़की को पीटने के लिए कहा था, उसने ही स्कूल को कहा था कि लड़की को सख्त सजा दी जाए और यह उसके सामने ही दी जाए। यह खबर छापी है, जिसमें लड़की के पिता का कहना है कि उन्होंने बेटी का एक वीडियो देखा था जिसमें वह 'शराब पीती दिखी' थी। पिता ने भी कहा कि उसने ही लड़की को पीटने के लिए कहा था, उसने ही स्कूल को कहा था कि लड़की को सख्त सजा दी जाए और यह उसके सामने ही दी जाए। रिपोर्ट में है कि उसने लड़की ने चार अन्य छात्रों के साथ किसी के जन्मदिन पर हुई पार्टी में शराब पी थी। लेकिन बाद में उन सभी छात्रों ने मना किया कि उन्होंने शराब पी थी।

इस घटना में शामिल एक अन्य लड़के को भी काफी मारा—पीटा गया था। हालांकि सोशल मीडिया पर लोगों का स्कूल के विरुद्ध इतना गुस्सा भड़का कि स्कूल के प्रिंसिपल को हटाने की मांग की गई। मीडिया में आईं खबरों के अनुसार, नाइजीरिया में कवारा प्रांत के इस इस्लामिक स्कूल के उस प्रिंसिपल को हटा दिया गया है। स्कूल ने कहा है कि इसमें सजा देने में उसकी कोई गलती नहीं है क्योंकि उसे ऐसा माता-पिता की मंजूरी से किया था। स्कूल का यह भी कहना है कि यह 'सजा इस्लामी कानून के हिसाब से' दी गई थी।

 
 


 

Comments

Also read: बांग्‍लादेश में हिंदुओं पर हमला, कोलकाता में हिंदू संगठनों का प्रदर्शन ..

राष्ट्रीय सुरक्षा पर सियासत क्यों ? सिंघु बॉर्डर की घटना का जिम्मेदार कौन ?

राष्ट्रीय सुरक्षा पर सियासत क्यों ? सिंघु बॉर्डर की घटना का जिम्मेदार कौन ?
विशिष्ट अतिथि- कर्नल जयबंस सिंह, रक्षा विशेषज्ञ
तारीख- 15 अक्तूबर 2021
समय- सायं 5 बजे

#singhu #SinghuBorder #LakhbirSingh #defance #BSF #Punjab #Panchjanya #सिंघु_बॉर्डर

Also read: लातेहार के उपायुक्त अबु इमरान पर लगी मजहबी छाप ..

बच्चे बेचकर कर्जा उतारने को मजबूर हैं माता-पिता, खाने के लाले पड़े हैं अफगानियों के
अब बच्चों के 'बुरे व्यवहार' के लिए माता-पिता को दंडित वाला कानून लाएगा चीन

संसार को चाहिए न्यासिता का सिद्धांत

डॉ. राम किशोर उपाध्याय   आज दुनिया को न्यासिता (ट्रस्टीशिप) सिद्धांत की आवश्यकता है। इसके अनुसार जिस व्यक्ति के पास अतिरिक्त पूंजी या संसाधन है, वह अपने सीमित उपयोग के बाद शेष पूंजी को समाज हित में लगाता है और स्वयं को उसका मालिक न समझकर केवल न्यासी समझता है। प्रधानमंत्री मोदी ने अमेरिका के राष्ट्रपति के साथ इसी सिद्धांत की बात की   बात कुछ ही दिन पुरानी है, लेकिन उसका संदेश सर्वकालिक है। वह बात है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हालिया अमेरिका यात्रा। इस यात्रा का एक महत्वपूर ...

संसार को चाहिए न्यासिता का सिद्धांत