पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

गढ़ गंगा से अमरोहा तक गंगा में डाली गई तीन लाख मछलियां, प्राकृतिक रूप से गंगा को साफ करने का अभियान

WebdeskOct 11, 2021, 05:53 PM IST

गढ़ गंगा से अमरोहा तक गंगा में डाली गई तीन लाख मछलियां,  प्राकृतिक रूप से गंगा को साफ करने का अभियान

पश्चिम उत्तर प्रदेश डेस्क
 

 
गढ़ मुक्तेश्वर में गंगा में एक लाख से ज्यादा मछलियों को डाला गया है। गंगा में गढ़ से अमरोहा तक तीन लाख से ज्यादा मछलियों को प्रवाहित किया गया। इसके पीछे उद्देश्य ये है कि गंगा को प्राकृतिक रूप से साफ रखा जाए। पिछले दिनों गंगा में कछुए भी डाले गए थे।
 
 
गढ़ मुक्तेश्वर में गंगा में एक लाख से ज्यादा मछलियों को डाला गया है। गंगा में गढ़ से अमरोहा तक तीन लाख से ज्यादा मछलियों को प्रवाहित किया गया। इसके पीछे उद्देश्य ये है कि गंगा को प्राकृतिक रूप से साफ रखा जाए। पिछले दिनों गंगा में कछुए भी डाले गए थे।
 
गढ़ गंगा से लेकर अमरोहा तक सहज रूप से डॉल्फिन मछलियां दिखाती देती थीं. इसके अलावा अन्य जलीय जीव भी नजर आते थे। पर गंगा में प्रदूषण बढ़ने पर यह जीव लुप्त होते गए। अब फिर से इन जीवों को गंगा में डाला जा रहा है, ताकि इनके जरिए प्राकृतिक रूप से गंगा को साफ बनाये रखने में मदद मिले। इसी कड़ी में केंद्रीय मत्स्य और पशु पालन मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला के साथ प्रशासन की टीम ने गंगा में जाकर मछलियों का जलावतरण करवाया।
 
बता दें कि कानपुर  मत्स्य विभाग की हैचरी में तैयार तीन लाख बीस हज़ार मछलियों को गंगा में छोड़ा गया है, जिनमें एक लाख मछलियां गढ़ गंगा में डाली गई हैं। रोहू, कतलन, नायन, महाशीर प्रजाति की मछलियां जलशोधन का कार्य करती हैं।
 
इस सम्बंध में जलीय जीव विशेषज्ञ डॉ विपुल मौर्य बताते हैं कि गंगा को साफ करने के लिए अभी और प्राकृतिक उपाय करने जरूरी हैं। यदि गंगा में जलीय जीवों का संरक्षण होगा तो गंगा स्वाभाविक रूप में लौट आएगी।

Comments

Also read: उत्तराखंड में बारिश थमी, राहत कार्य शुरू, मृतक आश्रितों को चार-चार लाख का मुआवजा ..

राष्ट्रीय सुरक्षा पर सियासत क्यों ? सिंघु बॉर्डर की घटना का जिम्मेदार कौन ?

राष्ट्रीय सुरक्षा पर सियासत क्यों ? सिंघु बॉर्डर की घटना का जिम्मेदार कौन ?
विशिष्ट अतिथि- कर्नल जयबंस सिंह, रक्षा विशेषज्ञ
तारीख- 15 अक्तूबर 2021
समय- सायं 5 बजे

#singhu #SinghuBorder #LakhbirSingh #defance #BSF #Punjab #Panchjanya #सिंघु_बॉर्डर

Also read: लाउडस्पीकर बजाने पर हिंदुओं के खिलाफ कार्रवाई ..

'नहीं छोड़ेंगे शिया मुस्लिमों को, जहां दिखेंगे वहीं मारेंगे',  आईएस-के ने दी धमकी
उत्तराखंड त्रासदी के बाद इतना भयानक मंजर, 43 की मौत, यूपी के जिलों को किया गया सचेत

चरम पर हिन्दू दमन, बेलगाम कट्टर मुस्लिम

  बांग्लादेश में दुर्गा पूजा पंडालों को जलाने, देव प्रतिमाओं को तोड़ने और मंदिरों को ध्वस्त करने के साथ ही वहां मौजूद श्रद्धालुओं की हत्याओं से जो सिलसिला शुरू हुआ है वह थमने का नाम नहीं ले रहा है बांग्लादेश में हिंदुओं पर कट्टर मुस्लिमों के हमले रुकने का नाम नहीं ले रहे हैं। हिन्दुओं के कई गांव, प्रतिष्ठान, मकान और दुकानों को मजहबी उन्मादियों ने आग के हवाले कर दिया है। बड़ी तादाद में हिन्दू हताहत हैं। कहीं-कहीं प्रशासन दिखता तो है लेकिन उसकी उपस्थिति से मजहबी दंगाइयों के हिंसक तेवर कम ...

चरम पर हिन्दू दमन, बेलगाम कट्टर मुस्लिम