पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

तालिबान का असर पंजाब पर भी, बढ़ सकता है आतंकवाद

WebdeskSep 09, 2021, 05:56 PM IST

तालिबान का असर पंजाब पर भी, बढ़ सकता है आतंकवाद

राकेश सैन


पाकिस्तान खालिस्तान के नाम पर पंजाब में दोबारा तबाही मचाने के प्रयास में है। पंजाब सहित देश के कई हिस्सों में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर स्थिति और भी गम्भीर होती जा रही है
 


 अफगानिस्तान में पाकिस्तान परस्त तालिबान के आने के बाद पाकिस्तान की गुप्तचर एजेंसी आईएसआई उत्साहित है और इसका असर पंजाब पर भी पड़ता नजर आने लगा है। पंजाब पुलिस प्रमुख दिनकर गुप्ता का दावा है कि गुप्तचर विभाग पूरी तरह सतर्क है। परन्तु राज्य में इन दिनों गिरफ्तार आतंकी मॉड्यूल्स इस बात के साक्षी हैं कि पाकिस्तान खालिस्तान के नाम पर पंजाब में दोबारा तबाही मचाने के प्रयास में है। पंजाब सहित देश के कई हिस्सों में होने वाले विधानसभा चुनावों के मद्देनजर स्थिति और भी गम्भीर होती जा रही है।

गौरतलब है कि पंजाब में लगातार हो रही टिफिन बमों की बरामदगी ने राज्य सरकार की नींद उड़ा दी है। खुफिया एजेंसियों की जांच में अब तक आठ टिफिन बमों का पता चल चुका है और पकड़े गए लोगों से हुई पूछताछ के आधार पर 11 और टिफिन बमों की तलाश है।

खुफिया एजेंसियां यह भी पता लगाने की कोशिश कर रही हैं कि सीमा पार से टिफिन बमों की आमद कब से शुरू हुई है और अब तक कितने टिफिन बम पंजाब और भारत के अन्य भागों में पहुंच चुके हैं। माना जा रहा है कि इन बमों का इस्तेमाल पंजाब और उत्तर प्रदेश समेत अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के दौरान गड़बड़ी फैलाने में किया जा सकता है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, जांच का पूरा काम एनआईए और आईबी ने संभाल लिया है, लेकिन पंजाब पुलिस भी खुफिया विभाग की खोजबीन में पूरी मदद कर रही है।

पंजाब पुलिस ने केंद्रीय जांच एजेंसियों को उन लोगों की सूची सौंपी है, जो आतंकवाद के दौर में आतंकियों के करीबी और समर्थक रह चुके हैं। इसके साथ ही ऐसे लोगों की सूची भी तैयार की जा रही है, जिनके विदेश में छिपे आतंकियों से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष संबंध हैं।

विगत माह पंजाब पुलिस ने जालंधर से अकाल तख्त के पूर्व जत्थेदार जसबीर सिंह रोडे के बेटे गुरमुख बराड़ और एक अन्य साथी गगनदीप सिंह को फगवाड़ा से गिरफ्तार कर एक आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ करने का दावा किया था। पुलिस ने दोनों आरोपियों से एक टिफिन बम, पांच हथगोले, डेटोनेटर का एक बॉक्स, दो ट्यूबों में आरडीएक्स, एक .30 बोर पिस्तौल, चार ग्लॉक मैगजीन, एक पीले तार, 3.75 लाख रुपये, 14 पासपोर्ट और दो ट्यूब भी बरामद किए।

पुलिस का दावा है कि दोनों पाकिस्तान में आईएसआई द्वारा समर्थित इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन के सदस्य थे। रोडे का भाई लखबीर सिंह पाकिस्तान में बसा हुआ है और इस संगठन का नेतृत्व कर रहा है। असल में अमृतसर (ग्रामीण) पुलिस ने 8 अगस्त को लोपोके पुलिस थाने के अंतर्गत आने वाले डोलके गांव से एक टिफिन बम बरामद किया था, जो इस मॉड्यूल के साथ एक लिंक का संकेत देता है।

देश में स्वतंत्रता दिवस की तैयारियां चल रही थीं, लेकिन पड़ोसी देश पाकिस्तान अपनी साजिशें रचने की कोशिशों से बाज नहीं आ रहा था। 9 अगस्त को पंजाब के अमृतसर में भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर पाकिस्तान ने ड्रोन के जरिए टिफिन बम फेंका। टिफिन में पांच हैंड ग्रेनेड भी मिले और स्प्रिंग और डेटोनेटर समेत कई सामान बरामद हुए।

 

Comments
user profile image
Anonymous
on Sep 15 2021 12:06:50

पंजाबियों को राष्ट्रवादी शिक्षा दें ताकि राष्ट्रवाद की सरकार बनी देश के फेवर की सरकार बनी वैसे भी यह सीमावर्ती राज्य है यहां पर संविधान में कुछ ऐसा प्रावधान किया जाए कि विशेष कानून लागू हो सामान्य कानूनों के अलावा

Also read: श्री विजयादशमी उत्सव: भयमुक्त भेदरहित भारत ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: दुर्गा पूजा पंडालों पर कट्टर मुस्लिमों का हमला, पंडालों को लगाई आग, तोड़ीं दुर्गा प्र ..

कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्‍या, शव किसान आंदोलन मंच के सामने लटकाया
सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण

विजयादशमी पर विशेष : दुष्प्रवृत्तियों से जूझने का लें सत्संकल्प

  विजयादशमी के महानायक श्रीराम भारतीय जनमानस की आस्था और जीवन मूल्यों के अन्यतम प्रतीक हैं। भारतीय मनीषा उन्हें संस्कृति पुरुष के रूप में पूजती है। उनका आदर्श चरित्र युगों-युगों से भारतीय जनमानस को सत्पथ पर चलने की प्रेरणा देता आ रहा है। शौर्य के इस महापर्व में विजय के साथ संयोजित दशम संख्या में सांकेतिक रहस्य संजोये हुए हैं। हिंदू तत्वदर्शन के मनीषियों की मान्यता है कि जो व्यक्ति अपनी आत्मशक्ति के प्रभाव से अपनी दसों इंद्रियों पर अपना नियंत्रण रखने में सक्षम होता है, विजयश्री उसका वरण अवश ...

विजयादशमी पर विशेष : दुष्प्रवृत्तियों से जूझने का लें सत्संकल्प