पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

संस्कृति

वाटर स्पोर्ट्स के शौकीन पर्यटकों को लुभाएगी टिहरी झील, युवाओं को जारी किए जाएंगे नए लाइसेंस

WebdeskSep 30, 2021, 05:30 PM IST

वाटर स्पोर्ट्स के शौकीन पर्यटकों को लुभाएगी टिहरी झील, युवाओं को जारी किए जाएंगे नए लाइसेंस

एशिया के सबसे बड़े बांधों में से एक टिहरी डैम की झील पर पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स शुरू हो गए हैं। जिला प्रशासन ने यहां के युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए नए लाइसेंस भी जारी करने के घोषणा कर दी है।



उत्तराखंड ब्यूरो

एशिया के सबसे बड़े बांधों में से एक टिहरी डैम की झील पर पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स शुरू हो गए हैं। जिला प्रशासन ने यहां के युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए नए लाइसेंस भी जारी करने के घोषणा कर दी है। टिहरी डैम की झील करीब 42 किमी क्षेत्रफल में फैली हुई है। झील के चारों तरफ पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं।



अब झील में गढ़वाल मंडल विकास निगम की फोल्टिंग हाउस बोट्स पर्यटकों के लिए खोल दी गयी है। इसमें पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स होने लगे हैं। अब पर्यटन विभाग और जिला प्रशासन ने मिलकर यहां शिकारा, क्रूज और पैरासिलिंग के लाइसेंस भी जारी करने का निर्णय लिया है।

जिलाधिकारी टिहरी ईवा आशीष ने बैठक कर लाइसेंस प्रक्रिया को सरल बनाते हुए बताया कि युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए उन्हें लाइसेंस जारी किए जा रहे हैं और उन्हें 9 महीने के अन्दर अपनी नाव या अन्य स्पोर्ट्स एक्टिविटी शुरू करनी होगी।

उन्होंने कहा कि सरकार युवाओं को वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली पर्यटन योजना के तहत सस्ती दरों पर बैंक लोन भी दिलवाएगी। उन्होंने कहा चारधाम यात्रा सर्कल होने की वजह से यहां पर्यटकों को आने के लिए कुछ नया अनुभव कराना जरूरी है। बता दें कि टिहरी में सी प्लेन का परीक्षण हो चुका है। भविष्य में इस तरह के और व्यावसायिक प्रयोग झील पर हो सकते हैं। डीएम ने ये भी कहा कि झील के चारों ओर पर्यावरण संरक्षित रहे, इस ओर विशेष ध्यान रखा जाएगा।

Follow Us on Telegram

Comments

Also read: आर्थिक विवादों के निवारण के लिए थे व्यापक विधान ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: वैदिक काल में होता था दूरस्थ देशों से व्यापार ..

शरद पूर्णिमा का अमृत उत्सव, जानिये सबकुछ
चीन सीमा तक पहुंचने लगी हैं सड़कें, मोदी सरकार के कार्यकाल में शुरू हुआ काम अंतिम चरण में

भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को होंगे बंद

  श्री केदारनाथ धाम, श्री यमुनोत्री धाम के कपाट 6 नवंबर को और श्री गंगोत्री धाम के कपाट 5 नवंबर को बंद होंगे।   भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को शाम 6 बजकर 45 मिनट पर बंद हो जाएंगे। पंच पूजा 16 नवंबर से शुरू होगी। शुक्रवार को श्री बदरीनाथ मंदिर परिसर में आयोजित कार्यक्रम में इस वर्ष श्री बदरीनाथ धाम के कपाट बंद होने की तिथि तय हुई। तिथि की घोषणा रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदरी ने की। पंच पूजा में 16 नवंबर को गणेश जी की पूजा एवं कपाट बंद, 17 नंवंबर को आदिकेदारेश्वर जी मंदिर के ...

भगवान बदरीनाथ धाम के कपाट 20 नवंबर को होंगे बंद