पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

सीमांत क्षेत्र में बीआरओ प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी महिला अधिकारी को

WebdeskOct 15, 2021, 01:54 PM IST

सीमांत क्षेत्र में बीआरओ प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी महिला अधिकारी को

चमोली जिले में बद्रीनाथ से आगे नीती माणा बीआरओ सड़क प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी मेजर आइना राणा को दी गयी है। ऐसा पहली बार हुआ है कि सीमांत क्षेत्र में किसी महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट की कमान किसी महिला अधिकारी को सौंपी गई हो।

 

चमोली जिले में बद्रीनाथ से आगे नीती माणा बीआरओ सड़क प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी मेजर आइना राणा को दी गयी है। ऐसा पहली बार हुआ है कि सीमांत क्षेत्र में किसी महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट की कमान किसी महिला अधिकारी को सौंपी गई हो। बीआरओ ने नीती माणा से आगे चीन सीमा तक बन रही 75 नई सड़कों के प्रोजेक्ट पर मेजर आइना राणा को कमान मिली है।

मेजर राणा के साथ तीन अन्य महिलाओं को उनके अधीनस्थ की जिम्मेदारी दी गयी है। राणा की पहली पोस्टिंग पिथौरागढ़ में बीआरओ यूनिट में थी। अब इन्हें फील्ड वर्क की जिम्मेदारी मिली है। इनके साथ ही बीआरओ के आरसीसी कम्पनी में कैप्टन अंजना को अभियंता, विष्णु माया और भावना को सहायक अभियंता के पद पर नियुक्त किया गया है।

 

Comments

Also read:पंजाब कांग्रेस में गुटबाजी चरम पर, सिद्धू के बाद चन्‍नी सरकार पर मनीष तिवारी का हमला ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:J&K में ‘ऑपरेशन इंसाफ’ से एक कदम दूर सुरक्षा बल, आम लोगों की हत्या करने वाले सभी आतंक ..

इनामी स्मैक तस्कर रिफाकत गिरफ्तार, नेपाल तक था नेटवर्क
पीएम खाद कारखाने का करेंगे लोकार्पण, आयात में आएगी भारी कमी

बिहार के दरभंगा में पहला ज्योतिष ओपीडी शुरू

दरभंगा स्थित राजकीय महारानी रमेश्वरी भारतीय चिकित्सा विज्ञान संस्थान में देश के पहले ज्योतिष चिकित्सा ओपीडी का शुभारंभ 28 नवंबर को हुआ। इसके साथ ही यह संस्थान भारत का पहला ऐसा आयुर्वेदिक अस्पताल बन गया, जहां ज्योतिषशास्त्र द्वारा चिकित्सा शुरू की गई। माना जाता है कि आयुर्वेद के साथ ज्योतिषशास्त्र की सहायता ली जाए तो किसी रोग की चिकित्सा बहुत ही आसान हो जाती है। बता दें कि आयुर्वेद चिकित्सा कर्म काल के अधीन है और काल की सही गणना करने वाला एक मात्र शास्त्र ज्योतिषशास्त्र है। इसलिए यह माना जाता ...

बिहार के दरभंगा में पहला ज्योतिष ओपीडी शुरू