पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

सुरक्षा परिषद में भारत का पांच 'स' पर रहेगा जोर

WebdeskAug 11, 2021, 11:34 AM IST

सुरक्षा परिषद में भारत का पांच 'स' पर रहेगा जोर


पाञ्चजन्य ब्यूरो


भारत ने अगस्त महीने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की अध्यक्षता संभाल ली है। इस बीच, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि भारत हमेशा संयम की आवाज, वार्ता का पैरोकार और अंतरराष्ट्रीय कानून का समर्थक बना रहेगा


भारत ने रविवार को यूएनएससी की अध्यक्षता संभाली। भारत इस दौरान समुद्री सुरक्षा, शांति स्थापना और आतंकवाद विरोधी तीन प्रमुख क्षेत्रों में हस्ताक्षर कार्यक्रमों की मेजबानी करेगा। वैश्विक निकाय के लिए अपने चुनाव के बाद भारत ने कहा कि वह अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के लिए जिम्मेदार और समावेशी समाधानों को बढ़ावा देगा। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने इसे महत्वपूर्ण दिन बताया और दुनिया को लेकर भारत के दृष्टिकोण का वर्णन करने के लिए ह्यवसुधैव कुटुम्बकम् का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि यूएनएससी में भारत का कार्यकाल पांच ह्यसह्ण यानी सम्मान, संवाद, सहयोग, शांति और समृद्धि से निर्देशित होगा। वहीं, विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट किया, ह्यह्यअगस्त के लिए यूएनएससी की अध्यक्षता संभालने के साथ हम अन्य सदस्यों के साथ सार्थक रूप से काम करने के उत्सुक हैं।


फ्रांस ने जताई खुशी
संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने अध्यक्षता संभालने की पूर्व संध्या पर एक वीडियो संदेश के माध्यम से कहा, ह्यह्यहम अगस्त में अपना 75वां स्वतंत्रता दिवस मनाएंगे, उसी महीने सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता करना हमारे लिए सम्मान की बात है। उन्होंने ट्वीट किया, ह्यजुलाई महीने के लिए यूएनएससी का संचालन करने के लिए फ्रांस के पीआर राजदूत निकोलस डी. रिवेरे को धन्यवाद। भारत ने अगस्त के लिए अध्यक्ष पद संभाला।ह्णइस बीच, भारत में फ्रांस के राजदूत इमैनुएल लेनिन ने ट्वीट किया, ह्यह्यखुशी है कि भारत आज फ्रांस से यूएनएससी की अध्यक्षता ले रहा है। हम भारत के साथ समुद्री सुरक्षा, शांति स्थापना और आतंकवाद विरोधी रणनीतिक मुद्दों पर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं।


यूएनएससी में सातवां कार्यकाल
भारत ने एक जनवरी को यूएनएससी के अस्थायी सदस्य के रूप में दो साल का कार्यकाल शुरू किया। अस्थायी सदस्य के तौर पर यूएनएससी में भारत का यह सातवां कार्यकाल है। इससे पहले भारत 1950-51, 1967-68, 1972-73, 1977-78, 1984-85 और 1991-92 में यूएनएससी का सदस्य रह चुका है।
थरूर बोले- हमारे लोग भारत को गौरवान्वित करेंगे

एक अगस्त से भारत के 15 देशों की दुनिया की सबसे शक्तिशाली संस्था की अध्यक्षता संभालने पर कांग्रेस सांसद शशि थरूर ने कहा कि भारत के पास एक अच्छी टीम है। मुझे उम्मीद है कि हमारे लोग अच्छा काम करेंगे और भारत को गौरवान्वित करेंगे। सुरक्षा परिषद वह जगह है जहां अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा के सभी मुद्दों को उठाया जाना चाहिए।

पाकिस्तान की बेचैनी बढ़ी
भारत के यूएनएससी की अध्यक्षता संभालने के बाद से पाकिस्तान की बेचैनी बढ़ गई है, क्योंकि इस दौरान भारत समुद्री सुरक्षा, वैश्विक शांति और आतंकवाद के मुद्दे पर अपने सख्त तेवर दिखाएगा। इसलिए पाकिस्तान को यह डर है कि भारत आतंक पर वार करने के साथ उसे वैश्विक मंच पर घेर सकता है। संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान के राजदूत मुनीर अकरम ने कहा कि पाकिस्तान यह सुनिश्चित करने के लिए ध्यान से देखेगा कि भारत सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता के दौरान देश के मूल हितों को नुकसान तो नहीं पहुंचा रहा है। भारत स्पष्ट रूप से अपनी अध्यक्षता का उपयोग आतंकवाद और संयुक्त राष्ट्र सुधार सहित विभिन्न मुद्दों पर अपने स्वयं के आख्यान को बढ़ावा देने के लिए करेगा। हम इसके आचरण को ध्यान से देखेंगे और सुनिश्चित करेंगे कि पाकिस्तान के मूल हितों के खिलाफ कोई भी कदम सफल नहीं होने दिया जाए। वहीं, पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता जाहिद हफीज चौधरी ने कहा,ह्यह्यहमें उम्मीद है कि भारत सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता के दौरान प्रासंगिक नियमों और कायदों का अनुपालन करेगा। भारत ने अध्यक्ष पद संभाल लिया है। इसलिए हम उसे याद दिलाना चाहेंगे कि वह जम्मू-कश्मीर पर यूएनएससी के प्रस्तावों को लागू करे।

Comments

Also read: आपदा प्रभावित 317 गांवों की सुध कौन लेगा, करीब नौ हजार परिवार खतरे की जद में ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: श्री विजयादशमी उत्सव: भयमुक्त भेदरहित भारत ..

दुर्गा पूजा पंडालों पर कट्टर मुस्लिमों का हमला, पंडालों को लगाई आग, तोड़ीं दुर्गा प्रतिमाएं
कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्‍या, शव किसान आंदोलन मंच के सामने लटकाया

सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण

सहारनपुर के केंदुकी गांव में बन रही जमीयत ए उलेमा हिन्द की बिल्डिंग का गांव वालों ने भारी विरोध किया है। विधायक की शिकायत पर डीएम अवधेश कुमार ने काम रुकवा दिया है। सहारनपुर के केंदुकी गांव में बन रही जमीयत ए उलेमा हिन्द की बिल्डिंग का गांव वालों ने भारी विरोध किया है। विधायक की शिकायत पर डीएम अवधेश कुमार ने काम रुकवा दिया है। जमीयत के अध्यक्ष मौलाना मदनी का कहना है कि ये मदरसा नहीं है बल्कि स्काउट ट्रेनिंग सेंटर है। अक्सर विवादों में घिरे रहने वाले जमीयत ए उलमा हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक् ...

सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण