पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

POJK चुनाव पर भारत की कड़ी आपत्ति, कहा—गैर कानूनी तरीके से चुनाव कराकर अवैध कब्जे को छिपाने की कोशिश कर रहा है पाकिस्तान

WebdeskJul 30, 2021, 12:57 PM IST

POJK चुनाव पर भारत की कड़ी आपत्ति, कहा—गैर कानूनी तरीके से चुनाव कराकर अवैध कब्जे को छिपाने की कोशिश कर रहा है पाकिस्तान

पाक अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) में विधान सभा चुनाव कराए जाने पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि इन भारतीय क्षेत्रों पर पाकिस्तान का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि उसे अपने अवैध कब्जे वाले सभी इलाकों को खाली कर देना चाहिए।

पाक अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) में विधान सभा चुनाव कराए जाने पर भारत ने कड़ी आपत्ति जताई है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा कि इन भारतीय क्षेत्रों पर पाकिस्तान का कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा कि उसे अपने अवैध कब्जे वाले सभी इलाकों को खाली कर देना चाहिए। पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले भारतीय भू-भाग में यह तथाकथित चुनाव कुछ और नहीं बल्कि पाकिस्तान द्वारा अपने अवैध कब्जे की सचाई और इन क्षेत्रों में उसके द्वारा किये गये बदलावों को छिपाने की कोशिश है। उन्होंने आगे कहा कि इस तरह का कार्य ना तो पाकिस्तान द्वारा किये गये अवैध कब्जे के सच को छिपा सकता है और ना ही इन अवैध कब्जे वाले क्षेत्रों में उसके द्वारा किये गये मानवाधिकारों के गंभीर हनन, शोषण और लोगों को स्वतंत्रता से वंचित करने के कृत्य पर पर्दा डाल सकता है। भारत ने इस बनावटी कवायद पर पाकिस्तानी अधिकारियों के समक्ष कड़ा विरोध दर्ज कराया है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की इस कवायद का स्थानीय लोगों ने भी विरोध किया है और उसे खारिज कर दिया है।

गौरतलब है कि पाक अधिक्रांत जम्मू-कश्मीर (पीओजेके) विधानसभा में कुल 53 सीट हैं। लेकिन इनमें से 45 सीटों पर सीधे निर्वाचन किया जाता है। जबकि पांच सीट महिलाओं के लिए आरक्षित हैं और तीन विज्ञान विशेषज्ञों के लिए। वहीं सीधे चुने जाने वाले 45 सदस्यों में से 33 सीटें पीओजेके के निवासियों के लिए हैं और 12 सीटें शरणार्थियों के लिए हैं। जो बीते वर्षों में कश्मीर से आकर पाकिस्तान के विभिन्न शहरों में बस गए थे। पीओजेके के विभिन्न जिलों की 33 सीटों पर कुल 587 उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा था, जबकि पाकिस्तान में बसे जम्मू-कश्मीर के शरणार्थियों की 12 सीटें पर 121 प्रत्याशी मैदान में थे। बता दें कि पीओजेके विधानसभा चुनाव में कश्मीरी शरणार्थियों ने दिलचस्पी नहीं दिखाई थी। उन्होंने एक सिरे से अवैध चुनाव को खारिज कर दिया था।  
Follow Us on Telegram

Comments

Also read: श्री विजयादशमी उत्सव: भयमुक्त भेदरहित भारत ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: दुर्गा पूजा पंडालों पर कट्टर मुस्लिमों का हमला, पंडालों को लगाई आग, तोड़ीं दुर्गा प्र ..

कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्‍या, शव किसान आंदोलन मंच के सामने लटकाया
सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण

विजयादशमी पर विशेष : दुष्प्रवृत्तियों से जूझने का लें सत्संकल्प

  विजयादशमी के महानायक श्रीराम भारतीय जनमानस की आस्था और जीवन मूल्यों के अन्यतम प्रतीक हैं। भारतीय मनीषा उन्हें संस्कृति पुरुष के रूप में पूजती है। उनका आदर्श चरित्र युगों-युगों से भारतीय जनमानस को सत्पथ पर चलने की प्रेरणा देता आ रहा है। शौर्य के इस महापर्व में विजय के साथ संयोजित दशम संख्या में सांकेतिक रहस्य संजोये हुए हैं। हिंदू तत्वदर्शन के मनीषियों की मान्यता है कि जो व्यक्ति अपनी आत्मशक्ति के प्रभाव से अपनी दसों इंद्रियों पर अपना नियंत्रण रखने में सक्षम होता है, विजयश्री उसका वरण अवश ...

विजयादशमी पर विशेष : दुष्प्रवृत्तियों से जूझने का लें सत्संकल्प