पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

बुद्धिजीवियों ने की उत्तर प्रदेश की कानून—व्यवस्था की प्रशंसा

WebdeskJul 12, 2021, 01:30 PM IST

बुद्धिजीवियों ने की उत्तर प्रदेश की कानून—व्यवस्था की प्रशंसा

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राज्य में कानून—व्यवस्था को जिस तरह संभाला है, उसकी तारीफ राज्य के लोग ही नहीं, बल्कि देश के बुद्धिजीवी भी कर रहे हैं। जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय सहित अनेक कारोबारी भी मान रहे हैं कि उत्तर प्रदेश में कानून—व्यवस्था बहुत हद तक अच्छी है


गत दिनों जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) में हिन्दी की प्रोफेसर पूनम कुमारी ने उत्तर प्रदेश को लेकर आनलाइन एक विचार श्रृंखला की शुरुआत की है। इसमें उत्तर प्रदेश की कानून—व्यवस्था, महिला सशक्तिकरण, चिकित्सा, कारोबार आदि विषयों पर हर 15वें दिन एक गोष्ठी आयोजित होगी। इसकी पहली कड़ी की शुरुआत 10 जुलाई को हुई। इसका विषय था—'उत्तर प्रदेश में कानून—व्यवस्था अतीत की नजर से वर्तमान का आंकलन।' इसके वक्ताओं ने योगी सरकार की कानून—व्यवस्था की बड़ी प्रशंसा की।  

दिल्ली विश्वविद्यालय में काूनन के सहायक प्रोफेसर डॉ. सिद्धार्थ मिश्रा ने कहा कि पिछली सरकारों में कानून—व्यवस्था में ढिलाई का कारण प्रतिबद्धता में कमी और उदासीनता थी। लेकिन वर्तमान योगी सरकार ने अपराध को बिल्कुल सहन न करने की नीति अपनाई है। यही नहीं, सरकार ने महिला सुरक्षा पर जोर दिया है, जो प्रशंसनीय है। उन्होंने यह भी कहा कि अवैध कत्लखानों के विरुद्ध कार्रवाई, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियों को न्याय दिलाने वाले कानून के प्रति योगी सरकार के कदम व्यवस्था को ठीक करने वाले हैं।

मुम्बई के कारोबारी सौरभ कुमार अखौरी ने कहा कि अगर शासक की दृष्टि सही और इच्छाशक्ति मजबूत हो तो प्रजाहित में कार्य होते हैं। उन्होंने 1986 के उत्तर प्रदेश गुंडा कानून का उदाहरण  देते हुए बताया कि आतंकवाद, हिंसा, फिरौती, राज्य की शांति और संपत्ति नष्ट करने की कोशिश इन सभी मुद्दों पर पहले भी कानून थे, पर इच्छाशक्ति की कमी के कारण पहले की सरकारें कानून—व्यवस्था ठीक करने में उतनी सफल न हो सकीं। वर्तमान योगी सरकार ने मजबूत इच्छाशक्ति से इन सभी कानूनों को लागू किया है। इसका लाभ भी मिल रहा है।

कार्यक्रम संयोजक डॉ. पूनम कुमारी ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार ने कानून—व्यवस्था को बहुत हद तक ठीक कर दिया है। इसका अनुभव सब लोग कर भी रहे हैं।
Follow Us on Telegram

Comments
user profile image
Vivek Ranjan Sonbhadra
on Jul 12 2021 17:19:47

कानून का राज वर्तमान की जरूरत है, अन्यथा समाज के सभी वर्गों का नुकसान तय है।

Also read: आपदा प्रभावित 317 गांवों की सुध कौन लेगा, करीब नौ हजार परिवार खतरे की जद में ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: श्री विजयादशमी उत्सव: भयमुक्त भेदरहित भारत ..

दुर्गा पूजा पंडालों पर कट्टर मुस्लिमों का हमला, पंडालों को लगाई आग, तोड़ीं दुर्गा प्रतिमाएं
कुंडली बॉर्डर पर युवक की हत्‍या, शव किसान आंदोलन मंच के सामने लटकाया

सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण

सहारनपुर के केंदुकी गांव में बन रही जमीयत ए उलेमा हिन्द की बिल्डिंग का गांव वालों ने भारी विरोध किया है। विधायक की शिकायत पर डीएम अवधेश कुमार ने काम रुकवा दिया है। सहारनपुर के केंदुकी गांव में बन रही जमीयत ए उलेमा हिन्द की बिल्डिंग का गांव वालों ने भारी विरोध किया है। विधायक की शिकायत पर डीएम अवधेश कुमार ने काम रुकवा दिया है। जमीयत के अध्यक्ष मौलाना मदनी का कहना है कि ये मदरसा नहीं है बल्कि स्काउट ट्रेनिंग सेंटर है। अक्सर विवादों में घिरे रहने वाले जमीयत ए उलमा हिन्द के राष्ट्रीय अध्यक् ...

सहारनपुर में हो रहा मदरसे का विरोध, जानिए आखिर क्या है कारण