विविध

जन्माष्टमी पर बालगोकुलम् ने निकाली शोभायात्रा

कोझीकोड में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने शोभायात्रा का उद्घाटन किया। बालगोकुलम् की ओर आयोजित कार्यक्रम में 3,000 से अधिक लघु शोभायात्राएं निकाली ..

विविध : प्रत्यक्ष कार्य करने वाले कार्यकर्ता थे आपटे जी

मुझे विश्वास है कि यहां से प्रशिक्षित होने वाला विद्यार्थी वर्ग नेतृत्व करेगा और देश को प्रगति के पथ पर आगे ले जाएगा।..

''सशक्त राष्ट्र के लिये सीमा के प्रति अखिल भारतीय समाज का जागरण अनिवार्य''

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह-सरकार्यवाह डॉ.कृष्णगोपाल ने कहा “राष्ट्र की सीमाएं माता के वस्त्रों के समान पवित्र होती हैं, इनकी रक्षा करना पुत्र का प्रथम कर्तव्य है”..

‘‘सकल घरेलू उत्पाद में महिलाओं के योगदान का मूल्यांकन जरूरी’’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निर्देश दिया था कि बजट ऐसा होना चाहिए जिसमें सबके लिए कुछ न कुछ हो और जिससे आमजन सहजता से जुड़ सकें। इस बार के बजट का मुख्य लक्ष्य था आमजन के रहन-सहन में सहजता। ..

‘‘सेवा करें, पर उसका अभिमान न करें’’

परंपरा को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी हम सबकी है। इसलिए जब भी और जहां भी सेवा करने का अवसर मिले, उससे चूकना नहीं चाहिए।..

लघु उद्योग भारती का रजत जयंती समारोह संपन्न

300 जिलों के 1600 से अधिक प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इनमें 56 महिला उद्यमी भी शामिल थीं। अंतिम दिन लघु उद्योग भारती की आगामी दो वर्ष के लिए नई अखिल भारतीय कार्यकारिणी के चुनाव संपन्न हुए..

''अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित हो हमारी सेना''

  विशेषांक का लोकार्पण करते विशिष्ट अतिथि  ''जिस तरह अनुच्छेद 370 की खामी को दूर किया गया है, उसी तरह सैन्य प्रशासन की खामियों को भी शीघ्रता से दूर किया जाए।'' उक्त बात सेनि. ले.ज. सुमेर सिंह ने कही। वे पिछले दिनों जयपुर स्थित पाथेय-कण संस..

स्व.ओमप्रकाश जी को दी गई श्रद्धांजलि

लखनऊ के निराला नगर स्थित सरस्वती शिशु मंदिर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक स्व. ओमप्रकाश जी की स्मृति में एक श्रद्धाञ्जलि सभा का आयोजन किया गया।..

अच्छे साहित्य से आएंगे समाज में अच्छे संस्कार

बाल सेवा आयोग, उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष एवं पत्रकार डॉ. विशेष गुप्ता ने कहा कि शब्दों का भी अपना संस्कार होता है। संस्कारयुक्त शब्दों का समाज में प्रचार होना चाहिए..

230 स्वयंसेवकों ने लिया प्रशिक्षण

230 स्वयंसेवकों ने शिक्षण प्राप्त किया। 42 शिक्षार्थी पंजाब प्रांत, 19 शिक्षार्थी जम्मू प्रांत और शेष 170 शिक्षार्थी हिमाचल प्रांत के विभिन्न भागों से आए थे। उन्होंने कहा कि शिक्षण वर्ग को सफलतापूर्वक पूर्ण करने में स्थानीय जनता का भरपूर सहयोग मिला। ..

सरसंघचालक ने किए भगवान वरदराज के दर्शन

इस मूर्ति को 40 साल में एक बार जल से निकाला जाता है और 48 दिन तक श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति दी जाती है। इसके बाद यह मूर्ति पुन: सरोवर में रख दी जाती है। इन दिनों यह मूर्ति बाहर रखी गई है।..

''बंगाल में लड़ी जा रही सामाजिक परिवर्तन की लड़ाई''

गत 19 जुलाई को नई दिल्ली स्थित नेहरू स्मारक संग्रहालय एवं पुस्तकालय में नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (इंडिया) और प्रभात प्रकाशन द्वारा संयुक्त रूप से प्रकाशित शोध पुस्तक 'ब्लीडिंग बंगाल' का विमोचन किया गया। पुस्तक मई 2019 से अब तक राज्य में हुई राजनीतिक हिंसा की घटनाओं का तथ्यात्मक ब्यौरा सामने रखती है।..

अहमदाबाद में होगा तृतीय चित्र भारती फिल्मोत्सव

भारतीय चित्र साधना द्वारा तृतीय चित्र भारती फिल्मोत्सव का आयोजन अहमदाबाद में किया जाएगा। प्रत्येक दो वर्ष में चित्र भारती फिल्मोत्सव का आयोजन किया जाता है। तृतीय चित्र भारती फिल्मोत्सव 21 से 23 फरवरी, 2020 में अहमदाबाद में होगा।..

''भारत के एकीकरण में संस्कृत की अग्रणी भूमिका है''

गत दिनों नई दिल्ली स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब में संस्कृत भारती ने एक कार्यक्रम का आयोजन किया। इसमें लोकसभा के उन सांसदों का सम्मान किया गया, जिन्होंने संस्कृत में संसद की सदस्यता की शपथ ली थी।..

''देश के इतिहास को संरक्षित करना पत्रकारों की जिम्मेदारी''

'इतिहास का विस्मरण हो जाए तो आत्मविश्वास नहीं आता और आत्मविश्वास खोने वाला देश कभी आगे नहीं जा सकता। अपने गौरवशाली इतिहास को भूल जाना भारत के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती है।'' उक्त बातें भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ. संबित पात्रा ने कहीं। ..

''संस्कृत जाने बिना भारत को समझना मुश्किल''

गत दिनों नागपुर में सम्पन्न एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने कहा कि संस्कृत को जाने बिना भारत को पूरी तरह से समझना मुश्किल है। सभी भारतीय भाषाएं, जिनमें वनवासी भाषाएं भी शामिल हैं, कम से कम 30 प्रतिशत संस्कृत शब्दों से बनी हैं। डॉ. आंबेडकर ने भी इस बात पर अफसोस जताया था कि उन्हें संस्कृत सीखने का अवसर नहीं मिला, लेकिन यह देश की परंपराओं के बारे में जानने के लिए महत्वपूर्ण है।..

अलवर में हिंदू युवक को मुसलमानों की भीड़ ने पीट—पीटकर मार डाला

राजस्थान के अलवर जिले में मामूली सी बात पर मुसलमानों की भीड़ ने एक हिंदू युवक की पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी. युवक की गलती सिर्फ इतनी थी कि बाइक पर जाते समय रास्ते में एक मुस्लिम महिला से मामूली रूप से उसकी मोटरसाइकिल टकरा गई थी. कहासुनी के दौरान वहां एकत्रित हुई मुसलमानों की भीड़ ने युवक को पीट—पीटकर मार दिया...

'राष्ट्र निर्माण में संघ की भूमिका' बनी पाठ्यक्रम का हिस्सा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का इतिहास एवं राष्ट्र निर्माण में भूमिका को नागपुर स्थित राष्ट्रसंत तुकड़ोजी महाराज नागपुर विश्वविद्यालय ने स्नातक (इतिहास) के द्वितीय वर्ष के पाठ्यक्रम में शामिल किया है। ..

''मेहनत और ईमानदारी से प्राप्त कर सकते हैं कोई भी लक्ष्य''

गत छह जुलाई को नई दिल्ली स्थित आकाश एयरफोर्स ऑफिसर मेस के सभागार में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोवल एवं सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने वरिष्ठ पत्रकार और लेखक मनजीत नेगी की पुस्तक 'हिल वॉरियर्स' का विमोचन किया।..

राजस्थान की रग-रग में है भारतीय इतिहास की झलक

''हमारे जीवन और राष्ट्र को दिशा देने वाली विभूतियों की जीवनियां भारतीय इतिहास से बाहर हो गई हैं। जहां हम अपमानित हो सकते हैं, ऐसे विषयों को इतिहास से जोड़ा जा रहा है, जो उचित नहीं है और यह बंद होना चाहिए।'' उक्त बातें अखिल भारतीय इतिहास संकलन योजना के संगठन सचिव डॉ. बाल मुकंुद पांडेय ने कहीं। ..

''शब्द ही पत्रकार के धर्म और अधर्म को तय करते हैं''

गत दिनों विश्व संवाद केंद्र, शिमला द्वारा होटल होली-डे होम में नारद जयंती के उपलक्ष्य में राज्य स्तरीय पत्रकार सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में राज्य के शिक्षा मंत्री श्री सुरेश भारद्वाज एवं मुख्य वक्ता के रूप में पूर्व राज्यसभा सदस्य श्री तरुण विजय उपस्थित रहे। ..

''कश्मीर केवल भूभाग नहीं, हमारी संस्कृति व ज्ञान का केंद्र है''

पिछले दिनों जम्मू-कश्मीर विचार मंच एवं भारत नीति प्रतिष्ठान के तत्वावधान में कांस्टीट्यूशन क्लब में 'रीक्लेमिंग कश्मीर द सैक्रेड लैंड' विषय पर संगोष्ठी आयोजित की गई। संगोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे विचारक एवं भाजपा के प्रवक्ता डॉ. सुधांशु त्रिवेदी। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि कश्मीर हमारे ज्ञान-विज्ञान के संस्थानों का केन्द्र रहा है।..

2019 में अब तक 66,835 लोगों ने संघ से जुड़ने की इच्छा व्यक्त

गत दिनों विजयवाड़ा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रांत प्रचारक बैठक संपन्न हुई। बैठक के अंतिम दिन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य ने पत्रकारों से बातचीत की। पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि संघ समाज को साथ लेकर व समाज के सहयोग से काम करता है। आगामी काल में संघ का प्रत्येक स्वयंसेवक सामाजिक परिवर्तन के कार्य में सक्रिय हो, इसके लिए प्रयासों की गति बढ़ाई जाएगी। भारतीय मूल्यों व सांस्कृतिक जीवन-पद्धति के आधार पर समाज में परिवर्तन हो, इसके लिए प्रत्येक स्वयंसेवक ..

‘‘पत्रकारिता में गंगा जैसी निर्मलता का भाव रहना जरूरी’’

‘‘पत्रकारिता जीवन की आवश्यक एवं महत्वपूर्ण विधा है। समाज में इसका बड़ा महत्व है तथा नारद जी ने पत्रकारिता को दिव्यता प्रदान की थी। पत्रकारिता में तथ्यों के साथ खबर प्रकाशित करने से पाठकों में खबर की विश्वसनीयता कायम रहती है।’’ यह कहना था पाञ्चजन्य के संपादक श्री हितेश शंकर का। वे गत दिनों सीकर में भारतीय शिक्षा संकुल में आयोजित नारद जयन्ती एवं पत्रकार सम्मान समारोह को मुख्य वक्ता के रूप में संबोधित कर रहे थे।..

‘‘जनजाति समाज के विकास एवं हितों की रक्षा हेतु प्रतिबद्ध हों’’

पिछले दिनों नई दिल्ली स्थित कांस्टीट्यूशन क्लब में जनजाति समाज के सांसदों के अभिनन्दन एवं स्नेह-मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे वनवासी कल्याण आश्रम के अध्यक्ष श्री जगदेवराम उरांव। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि लोगों ने भारी बहुमत देकर भाजपा को देश में नई सरकार बनाने का जनादेश दिया है।..

2019 में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की शाखाएं 60,000 हो गई

‘‘संघ कार्य में नई पीढ़ी का प्रवेश तेजी से हो रहा है। संघ ने बदलते हुए परिवेश को ध्यान में रखकर 6 नई गतिविधियां प्रारम्भ की हैं। इनमें पर्यावरण, ग्राम विकास, गो संरक्षण, सामाजिक समरसता व कुटुम्ब प्रबोधन शामिल हैं। ये सभी विषय गांव से जुड़े हैं।..

‘‘देश-समाज के प्रति होनी चाहिए जवाबदेही’’

गत दिनों नई दिल्ली में राजघाट स्थित गांधी दर्शन में सेंटर फॉर मीडिया रिसर्च एंड एनालिसिस द्वारा दो दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।..

रथयात्रा के दौरान स्वयंसेवकों ने किए सेवा कार्य

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एवं उत्कल बिपन्न सहायता समिति, ओडिशा के कार्यकर्ताओं ने भगवान जगन्नाथ रथयात्रा के दौरान 8 श्रेणियों में सेवा प्रदान की।..

वन विभाग की रपट शर्मनाक

केरल वन विभाग ने केंद्र सरकार को पर्यावरण पर्यटन से जुड़ी एक रिपोर्ट सौंपी है, जिसमें उसके द्वारा शबरीमला में भजन-कीर्तन को ‘ध्वनि प्रदूषण’ और तीर्थस्थल को ‘पर्यावरण के लिए खतरे’ की सूची में डाला गया है। ..

‘‘वैद्यकीय क्षेत्र में बढ़ती व्यावसायिकता चिंताजनक’’

गत 7 जुलाई को मुंबई में नाना पालकर स्मृति समिति की ओर से राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस के उपलक्ष्य में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख श्री अनिरुद्ध देशपांडे उपस्थित थे। ..

व्यक्ति नहीं संगठन और राष्ट्र सर्वोपरि

‘‘परिवार, समाज और राष्ट्र में सामंजस्य बिठाने के लिए प्रत्येक व्यक्ति का जीवन राष्ट्रीय विचारों से ओतप्रोत होना चाहिए। व्यक्ति नश्वर है, राष्ट्र चिरंतन है।..

‘‘देशभक्ति से ओत-प्रोत साहित्य की जरूरत’’

पुस्तक का विमोचन करते बाएं से सर्वश्री रामशरण गौड़, विजय गोयल, कमल किशोर गोयनका एवं जीत सिंह जीत ..

‘‘हिन्दू तीर्थस्थलों का विकास ही जम्मू-कश्मीर को बना सकता है स्वर्ग’’

‘‘हिन्दू तीर्थस्थलों का विकास ही जम्मू-कश्मीर को बना सकता है स्वर्ग’’..

‘‘ऋषियों ने भारतीय जीवन मूल्यों के मापदंड का अनुसंधान किया’’

ऋषि-मुनियों के सान्निध्य में भारतीय जीवन, भारतीय संस्कृति के मापदंड, जीवन मूल्य और जीवनचर्या के लिए आवश्यक मूल्यों का अनुसंधान किया तथा उनको जीवन में उतारने के लिए आवश्यक जीवनचर्या का मार्ग तय किया..

‘‘दुनिया समझ रही योग की महत्ता’’

गत दिनों रोहिणी (नई दिल्ली) के महाराजा अग्रसेन इंजीनियरिंग कॉलेज में नवयोग सूर्योदय सेवा समिति एवं योग स्पोटर््स एसोसिएशन के तत्वावधान में दो दिवसीय योग महोत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सहसरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल उपस्थित थे। ..

अयोध्या में शीघ्र प्रारम्भ हो राममंदिर का निर्माण

गत दिनों हरिद्वार में विश्व हिन्दू परिषद् की केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल बैठक का समापन अयोध्या में शीघ्र ही श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राममंदिर के निर्माण हेतु जुटने के संकल्प के साथ हुआ। केंद्रीय मार्गदर्शक मण्डल में पधारे पूज्य संतों का कहना था कि मंदिर को भव्यता देने का कार्य शीघ्रातिशीघ्र प्रारंभ हो। इसी संबंध में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए नृसिंह पीठ, जबलपुर के पूज्य जगद्गुरु श्री श्यामदेवाचार्य जी महाराज ने कहा कि हिन्दू समाज का सन् 1528 ई. से ही इस सम्बन्ध में दृढ़ संकल्प रहा ..

हृदय नारायण दीक्षित डॉ. हेडगेवार प्रज्ञा सम्मान से सम्मानित

‘‘आज भौतिकता की आंधी में जो स्थिर हैं, वे ही इस देश की प्रज्ञा को बचाकर चलने का प्रयत्न कर रहे हैं। मातृभूमि का सारस्वत स्वर ही इस देश की प्रज्ञा है। डॉ. हेडगेवार इसी प्रज्ञा का संरक्षण करना चाहते थे।’’ ये उद्गार हैं पश्चिम बंगाल के राज्यपाल श्री केशरीनाथ त्रिपाठी के। वे पिछले दिनों कोलकाता के स्थानीय कला मंदिर में श्री बड़ाबाजार कुमारसभा पुस्तकालय के शताब्दी वर्ष में आयोजित 30वें ‘डॉ. हेडगेवार प्रज्ञा सम्मान’ में बतौर अध्यक्ष बोल रहे थे। ..

‘‘गोवंश रक्षण हम सबका कर्तव्य’’

पिछले दिनों पश्चिम उत्तर प्रदेश के हापुड़ में संघ शिक्षा वर्ग, प्रथम वर्ष का समापन समारोह आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य वक्ता के रूप में रा. स्व. संघ, पश्चिम उत्तर प्रदेश क्षेत्र प्रचारक श्री आलोक कुमार उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि संघ में 1927 से शिविर प्रारम्भ हुए। शिविर में साथ रहने, खाने, कार्य करने से सामूहिकता का भाव निर्माण होता है। यह भाव ही संघ की शक्ति है और इस शक्ति द्वारा ही संघ कार्यकर्ता देश के बड़े-बड़े कठिन दिखने वाले कार्य करते आए हैं। ..

‘‘शिवाजी सम्पूर्ण भारत के आदर्श’’

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, गाजियाबाद महानगर द्वारा हिन्दू साम्राज्य दिवस के उपलक्ष्य में शहीद चौक नवयुग मार्केट पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि थे छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज संभाजी राजे। ..

‘‘संघ का लक्ष्य भारत को विश्व गुरु बनाना’’

गत 23 जून को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रान्त का संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) का समापन समारोह हरीनगर स्थित महाशय चुन्नी लाल सरस्वती बाल मंदिर विद्यालय में आयोजित किया गया। समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में सर्वोच्च न्यायालय के वरिष्ठ अधिवक्ता सरदार रुपिंदर सिंह सूरी एवं मुख्य वक्ता के रूप में रा.स्व.संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य डॉ. रवीन्द्र जोशी उपस्थित थे।..

‘‘दुनिया समझ रही योग की महत्ता’’

गत दिनों रोहिणी (नई दिल्ली) के महाराजा अग्रसेन इंजीनियरिंग कॉलेज में नवयोग सूर्योदय सेवा समिति एवं योग स्पोटर््स एसोसिएशन के तत्वावधान में दो दिवसीय योग महोत्सव का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सहसरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल उपस्थित थे। ..

‘‘संघ की शाखा में होता है व्यक्ति निर्माण’’

गत दिनों कानपुर स्थित दीनदयाल सनातन इंटर कॉलेज परिसर में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, पूर्वी उत्तर प्रदेश क्षेत्र के बीस दिवसीय प्रशिक्षण शिविर (संघ शिक्षा वर्ग, द्वितीय वर्ष) का समापन हुआ। कार्यक्रम में मुख्य रूप से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय सह व्यवस्था प्रमुख श्री अनिल ओक उपस्थित थे।..

स्वयंसेवकों ने निकाला पथ संचलन

त 16 जून को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, दिल्ली प्रान्त द्वारा आयोजित संघ शिक्षा वर्ग (प्रथम वर्ष) के शिक्षार्थियों द्वारा घोष की मधुर रचनाओं के साथ अत्यंत अनुशासन में पथ-संचलन निकाला गया। लगभग 3 किमी. का यह पथ-संचलन हरि नगर स्थित महाशय चुन्नी लाल सरस्वती बाल मंदिर विद्यालय प्रांगण से प्रारंभ होकर बेरी वाला बाग, सुभाष नगर, अजय इन्क्लेव, तिहाड़ गांव क्षेत्र से होता हुआ विद्यालय प्रांगण पर ही समाप्त हुआ। कदमताल करते हुए स्वयंसेवकों का उत्साह देखते ही बन रहा था। इस अवसर पर स्थान-स्थान पर समाज द्वारा पुष्प ..

‘‘शारीरिक शिक्षण से होती है आत्मविश्वास में वृद्धि’’

गत 16 जून को लाजपत नगर (नई दिल्ली) में राष्ट्र सेविका समिति के ग्रीष्मकालीन प्रवेश एवं प्रबोध प्रशिक्षण वर्ग का समापन हुआ। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थीं राष्ट्र सेविका समिति की प्रमुख संचालिका शांता अक्का। ..

‘‘देश-धर्म की रक्षा के लिए सब साथ आएं’’

गत दिनों नागपुर स्थित रेशिमबाग मैदान में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तृतीय वर्ष के प्रशिक्षण शिविर का समापन समारोह आयोजित किया गया। इस अवसर पर मुख्य रूप से उपस्थित थे रा.स्व.संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि चुनाव में स्पर्द्धा होती ही है। प्रजातंत्र है, राजनीतिक दलों को चुनाव लड़ने ही पड़ते हैं।..

‘‘भारतीय दर्शन में है सभी प्रश्नों का समाधान’’

भारतीय जीवन दर्शन में विश्व के सभी प्रश्नों का समाधान है। भारतीय संस्कृति के संरक्षण के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ लगातार प्रयत्नशील है..

‘‘राष्ट्र के प्रति समर्पण सिखाती है संघ की शाखा’’

संघ की शाखा केवल खेल खेलने का स्थान नहीं है। संघ के तृतीय सरसंघचालक बाला साहब देवरस ने कहा था कि संघ की शाखा सज्जनों की सुरक्षा का बिन बोले अभिवचन है,..

‘‘संघ नि:स्वार्थ कार्य करने वाले स्वयंसेवक तैयार करता है’’

गत दिनों राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ, गुजरात/ सौराष्ट्र प्रांत द्वारा आयोजित संघ शिक्षा वर्ग, प्रथम वर्ष के समारोप सत्र का आयोजन ब्राइट स्कूल, नरोडा, कर्णावती में किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में प्रांत संघचालक डॉ. भरत भाई पटेल उपस्थित थे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि संघ कोई संस्था नहीं है, संगठन है। अत: दूसरी संस्थाओं के आधार पर संघ को नहीं समझा जा सकता है।..

‘‘राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति के जागरण से ही देश जगद्गुरु बनेगा’’

‘राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति के जागरण के कारण देश फिर से जगद्गुरु बनेगा। पिछली अनेक सदियों से भारत में अनेक महापुरुषों ने प्रयास कर राष्ट्रभक्ति और राष्ट्रशक्ति जागरण का अत्यंत महत्वपूर्ण कार्य किया है और 1925 से राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने भी समाज की भक्ति व शक्ति के जागरण का संकल्प लिया है।’’..

बुर्का बनाम घूंघट कन्हैया के बुर्के में जावेद!

दिग्विजय सिंह का परोक्ष रूप से प्रचार करने भोपाल गए जावेद अख्तर ने वहां बयान दिया कि ‘बुर्के पर पाबंदी लगे तो राजस्थान में घूंघट पर भी पाबंदी लगनी चाहिए।’ जो अंतर उन्हें देखना चाहिए था वह है कि घूंघट के लिए फतवे नहीं निकलते। महिलाओं का खून नहीं होता। उन्हें तलाक नहीं दे दिया जाता। पर बुर्के के लिए यह सब होता आ रहा है..

विकास की बयार में झूमते काशी के मतदाता

चुनावी समय में काशी यानी नरेंद्र मोदी। गली नुक्कड़ से लेकर, चौक-चौराहों तक हर जगह हर-हर मोदी, घर-घर मोदी ही दिखाई दे रहा है।..

'अलवर' नहीं दिखा दिल्ली के मीडिया को

बीते 70 साल की कांग्रेसी व्यवस्था ने न सिर्फ मीडिया को गुलाम बनाया, बल्कि उन संस्थाओं को भी कठपुतली बना दिया जिनकी जिम्मेदारी है कि वे लोकतंत्र के इस चौथे स्तंभ की स्वतंत्रता को सुनिश्चित करें। ऐसी ही एक संस्था है एडिटर्स गिल्ड ऑफ इंडिया। कुछ गिने-चुने संपादकों की यह जेबी संस्था कथित तौर पर पूरे भारतीय मीडिया जगत के प्रतिनिधित्व का दावा करती है।..

''आतंकवाद को करारा जवाब देने का समय''

गत दिनों इंदौर में डॉ़. हेडगेवार स्मारक समिति द्वारा चिंतन यज्ञ का आयोजन किया गया। इस अवसर पर मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे मेजर जनरल (सेनि़) जी.डी. बक्शी। उन्होंने अपने वक्तव्य में कहा कि देश के नागरिकों की सुरक्षा ही सरकार का पहला उत्तरदायित्व है। भारतीय सेना के लिए देश की सुरक्षा और सेवा प्रमुख ध्येय होती है, इसे प्रत्येक सैनिक जीवनपर्यन्त निभाता है। ..

बलिदानियों का पुण्य स्मरण

'माटी री सुगंध-एक शाम बलिदानियों के नाम' ..

''संघ में आने से व्यक्ति वैचारिक रूप से पवित्र हो जाता है '

गत दिनों पुणे में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी ने रवींद्र तथा राजाभाऊ मुले लिखित और साप्ताहिक विवेक व हिंदुस्तान प्रकाशन द्वारा प्रकाशित पुस्तक 'परीसवेध' का विमोचन किया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि जैसे गंगा उसमें आने वाली सभी धाराओं को पवित्र करती है, वैसे ही संघ में आने वाला हर व्यक्ति वैचारिक रूप से पवित्र हो जाता है। संघ में जो भी आया, उसने ऐसा महसूस किया ही होगा।..

''शिक्षा के माध्यम से जगाएं राष्ट्रभक्ति का भाव''

''संघ को केवल अपने बूते काम नहीं करना है, बल्कि सारे समाज को साथ लेकर चलना है। समाज की समस्याओं का समाधान इसी समाज में मिल सकता है, यह संघ का विचार व भूमिका है।'' उक्त बात राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह श्री भैयाजी जोशी ने कही। वे गत दिनों पुणे में रामकृष्ण पटवर्धन लिखित मराठी पुस्तक 'राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ-एक विशाल संगठन' का विमोचन कर रहे थे..

''हम सभी लोकतंत्र के महापर्व में बढ़ -चढ़कर हिस्सा लें''

पिछले दिनों अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की शिमला विवि. इकाई द्वारा विवि. सभागार में वार्षिक सांस्कृतिक कार्यक्रम सम्पन्न हुआ। इस मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के राष्ट्रीय सह संगठन मंत्री श्रीनिवास ने कहा कि सर्वे भवन्तु सुखिन: सर्वे संतु निरामय: तथा वसुधैव कुटुम्बकम के मंत्र पर चलते हुए परिषद ने अपनी संस्कृति को संजोने का कार्य किया है। ..

'मानवता की धरोहर हैं संत'

जब-जब हम राह भटके, तब-तब संतो-महापुरुषों ने हमें राह दिखाई। संत सारी मानवता की धरोहर हैं| संत रविदास भी ऐसे ही एक तेज पुंज हैं। उनकी वाणी और प्रसंगों का एक स्थान पर संकलन हुआ है, ये बहुत अच्छी बात है।"..

संघ ने की पुलवामा हमले कड़ी निंदा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने पुलवामा हमले की कड़े शब्दों में निंदा करते हुए कहा है कि इस हमले से पूरा देश व्यथित है लेकिन जवानों का यह बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत ने शहीद जवानों को श्रद्धाञ्जलि अर्पित करते हुए कहा कि यह कायरतापूर्ण हमला है जिसकी न केवल हम निंदा करते हैं बल्कि इसका कड़ाई से प्रत्युत्तर दिया जाए, ऐसी कामना करते हैं। ..

‘‘भारतीय समाज में आंतरिक एकात्मकता है’’

गत दिनों पंजाब विश्वविद्यालय में पंचनद शोध संस्थान की ओर से एक व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में उपस्थित थे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय संपर्क प्रमुख श्री अनिरुद्ध देशपांडे। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि भारतीय सामाजिक चिंतन में अनेक विचार हैं, यही विशेषता यहां के चिंतन अधिष्ठान का सौंदर्य है। इस विचार विविधता में कहीं भी विरोधाभास नहीं, अपितु आंतरिक सामंजस्यता है।..

छात्रों ने किया सूर्य नमस्कार

राजस्थान के 1125 विद्यालयों में पिछले दिनों सूर्यरथ सप्तमी तथा देवनारायण जयंती के अवसर पर साढ़े चार लाख से अधिक छात्रों ने सामूहिक सूर्यनमस्कार कर एक कीर्तिमान स्थापित किया। क्रीड़ा भारती की ओर से आयोजित कार्यक्रम में विद्या भारती से संबद्ध 550 विद्यालयों के बच्चों ने भी भाग लिया। ..

पाक दूतावास के सामने प्रदर्शन

भारतीय मजदूर संघ के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने दिल्ली स्थित चाणक्यपुरी में पुलवामा हमले के विरुद्ध पाकिस्तानी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया। इस दौरान पाकिस्तान का झंडा जलाने के साथ ही कार्यकर्ताओं ने पाकिस्तान मुदार्बाद के नारे भी लगाए। ..

‘‘अध्यात्म एवं विज्ञान में नहीं है कोई टकराव’’

‘‘देश में ज्ञान की जो प्राचीन परम्परा और विशेषता है, उससे हम थोड़ा दूर चले गए और अपने देश से ज्यादा पश्चिम को श्रेष्ठ मानने लगे हैं। अपने विज्ञान में तंत्र ज्ञान, यंत्र ज्ञान के साथ-साथ विज्ञान का आधुनिक क्षेत्र में विकास के अध्ययन की आवश्यकता है।’’..

ग्रामीण युवा खेलेंगे क्रिकेट

देश की पहली किसान क्रिकेट लीग में खेलने के इच्छुक युवा 17 जनवरी से अपना रजिस्ट्रेशन किसान क्रिकेट की वैबसाइट www.kisancricket.com पर करा सकते हैं। ..

'मौजूदा शिक्षा प्रणाली केवल सूचना का माध्यम बन कर रह गई''

'मौजूदा समय में भारतीय शिक्षा प्रणाली और विद्यार्थी दोनों एक परंपरागत ढांचे में बंध कर आगे बढ़ रहे हैं। इससे शिक्षा का असली उद्देश्य पूर्ण नहीं हो रहा। इसलिए शिक्षा प्रणाली और विद्यार्थियों को एक सीमित ढांचे से निकालना जरूरी है।'' ..

सेवा गाथा' का अनावरण

पिछले दिनों प्रसिद्ध उद्यमी प्रकाशजी धोका ने पुणे स्थित रा.स्व.संघ के मोतीबाग कार्यालय में सेवा विभाग की तरफ से सेवा प्रकल्पों की जानकारी देने वाली 'सेवा गाथा' वेबसाइट का अनावरण किया।..

''शाखा समाज को मजबूत बनाती है''

गत दिनों चेन्नै महानगर द्वारा बस्ती संगम का भव्य आयोजन किया गया। संगम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक श्री मोहनराव भागवत। ..

ज्ञान का तात्पर्य केवल किताबी जानकारी नहीं''

हमारे देश की भाषा, संस्कृति और समाज में विविधताएं हैं। इसलिए शिक्षा की दिशा एक समान हो कर भी पद्धतियों में भिन्नता हो सकती है। ऐसे में केंद्र से शिक्षा नीति बनना व्यवहारसम्मत नहीं होगा, इसलिए शिक्षा नीति विकेंद्रित होनी चाहिए।'..

''अखंड गंगा प्रवाह का आधुनिक रूप है संघ''

त दिनों भोपाल स्थित मानस भवन में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर केंद्रित 'कृति रूप संघ दर्शन' पुस्तक के खंडों के लोकार्पण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक श्री जे़ नंदकुमार। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि संघ अखंड गंगा प्रवाह का आधुनिक रूप है।..

''न्यायिक प्रक्रिया का है सम्मान, लेकिन न्यायालय से ऊपर हैं भगवान''

पिछले दिनों नई दिल्ली स्थित इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केन्द्र में तीन दिवसीय अयोध्या पर्व का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ श्रीराम जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास एवं जूनापीठाधीश्वर स्वामी श्री अवधेशानंद गिरि जी महाराज के कर कमलो द्वारा संपन्न हुआ। ..