पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

भारत में रोहिंग्याओं को दाखिल कराने वाले नूर और आमिर गिरफ्तार

WebdeskJun 09, 2021, 12:59 PM IST

भारत में रोहिंग्याओं को दाखिल कराने वाले नूर और आमिर गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश की एटीएस ने दो रोहिंग्याओं को गिरफ्तार किया है. ये दोनों अवैध रूप से यूपी में रह रहे थे. ये दोनों फर्जी कागजात के आधार पर रोहिंग्याओं को अवैध रूप से भारत में दाखिल कराते थे. रोहिंग्या नूर आलम पश्चिमी उत्तर प्रदेश के मेरठ जनपद से गिरफ्तार किया गया. दूसरा रोहिंग्या आमिर हुसैन नई दिल्ली में रहता है, इसे यूपी के गाज़ियाबाद जनपद  से गिरफ्तार किया गया.

एटीएस ने नूर आलम के कब्जे से एक आधार कार्ड, एक यूनाइटेड नेशंस का कार्ड और करीब 65 हजार रूपये बरामद किया है. आमिर हुसैन के पास से यूनाइटेड नेशंस का कार्ड और  करीब साढ़े चार हजार रूपये बरामद हुए हैं.  एटीएस के अनुसार, इसी वर्ष के जनवरी माह में संतकबीर नगर से रोहिंग्या अजीजुल्लाह गिरफ्तार किया गया था. नूर आलम उसका बहनोई है. नूर आलम रोहिंग्याओं को भारत ले आता था और फर्जी कागजात तैयार कराता था. नूर आलम और आमिर हुसैन रोहिंग्याओं को भारत लाने के एवज में पैसा लेते थे. ये दोनों अभियुक्त म्यांमार के रखाइन प्रांत के निवासी हैं.

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश एंटी टेररिस्ट स्क्वॉड  ने गत जनवरी माह में म्यांमार निवासी अजीजुलहक उर्फ अजीजुल्लाह को यूपी के संत कबीर नगर जनपद में गिरफ्तार किया. अभियुक्त के बैंक खातों में कई संदिग्ध माध्यम से धनराशि जमा कराई जा रही थी.  अभियुक्त ने फर्जी कागज़ात के आधार पर दो पासपोर्ट बनवाए थे. वह उत्तर प्रदेश के संत कबीर नगर जनपद के थाना बखिरा अंतर्गत नौरो गांव में रह रहा था. वह बीस वर्ष पूर्व बांग्लादेश के रास्ते भारत आया था. करीब 3 वर्ष पूर्व उसने अपनी मां आबिदा खातून, बहन फातिमा और दो भाईयों को भारत में अवैध रूप से प्रवेश करा  दिया था. 

अपर पुलिस महानिदेशक, (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने उस समय बताया  कि म्यांमार का रहने वाले रोहिंग्या ने फर्जी राशन कार्ड, मार्कशीट और प्राथमिक पाठशाला के ट्रांसफर सर्टिफिकेट के आधार पर दो पासपोर्ट बनवाया था. इन पासपोर्ट पर सऊदी अरब और बांग्लादेश की यात्रा की गई थी. वर्ष 2017 में इसने अपनी माता, बहन और दो भाइयों को भी अवैध रूप से भारत में प्रवेश करा दिया. इन सभी लोगों के भी फर्जी कागजात तैयार करा लिया था. अभियुक्त अजीजुल्लाह के कब्जे से दो भारतीय पासपोर्ट ,3 आधार कार्ड, एक पैन कार्ड, तीन डेबिट कार्ड, राशन कार्ड और 5 बैंकों की पासबुक बरामद हुई थी.

Comments

Also read: प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे की तैयारी, 400 करोड़ की योजनाओं का होगा लोकार्पण ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: कांग्रेस विधायक का बेटा गिरफ्तार, 6 माह से बलात्‍कार मामले में फरार था ..

केरल में नॉन-हलाल रेस्तरां चलाने वाली महिला को इस्लामिक कट्टरपंथियों ने बेरहमी से पीटा
रवि करता था मुस्लिम लड़की से प्यार, मामा और भाई ने उतारा मौत के घाट

कथित किसानों का गुंडाराज

  कथित किसान आंदोलन स्थल सिंघु बॉर्डर पर जिस नृशंसता के साथ लखबीर सिंह की हत्या की गई, उससे कई सवाल उपजते हैं। यह घटना पुलिस तंत्र की विफलता पर सवाल तो उठाती ही है, लोकतंत्र की मूल भावना पर भी चोट करती है कि क्या फैसले इस तरीके से होंगे? किसान मोर्चा भले इससे अपना पल्ला झाड़ रहा हो परंतु वह अपनी जवाबदेही से नहीं बच सकता। मृतक लखबीर अनुसूचित जाति से था परंतु  विपक्ष की चुप्पी कई सवाल खड़े करती है रवि पाराशर शहीद ऊधम सिंह पर बनी फिल्म को लेकर देश में उनके अप्रतिम शौर्य के जज्बे ...

कथित किसानों का गुंडाराज