पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

भागलपुर में 'एक मेड़, एक पेड़' के अंतर्गत नीम के पौधों का रोपण

WebdeskJul 13, 2021, 03:45 PM IST

भागलपुर में 'एक मेड़, एक पेड़' के अंतर्गत नीम के पौधों का रोपण

कोरोना काल में लोगों ने आयुर्वेद के महत्व को जाना है। यही कारण है कि इस समय आयुर्वेदिक उत्पादों की मांग दिनोंदिन बढ़ती जा रही है। इसे देखते हुए भारतीय कृषि अनुसंधान ने औषधीय पौधों को लगाने पर जोर दिया है। पूरे देश में 16 जुलाई से इस तरह के पौधों को लगाने के लिए विशेष अभियान शुरू हो रहा है। इसी के तहत भागलपुर में 'एक मेड़, एक पेड़' अभियान शुरू हो रहा है।

 
बिहार कृषि विश्वविद्यालय, सबौर (भागलपुर) के तत्वावधान में 16 जुलाई को नीम के 6,000 पौधे लगाने का अभियान चलाया जाएगा। इस दिन विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान केंद्र के छह वैज्ञानिक छह गांवों में जाएंगे और 6,000 पौधे लगवाएंगे। किसानों को ये पौधे कृषि विज्ञान केंद्र ही उपलब्ध कराएगा। कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डॉ. विनोद कुमार ने बताया कि नीम का पौधा अपनी ऊँचाई से 20 गुणा वातावरण को स्वच्छ करता है। इससे प्रदूषण कम होता है। प्रदूषण कम होने पर आक्सीजन की मात्रा बढ़ती है। पौधे मिट्टी के क्षरण को भी रोकता है। कृषि विज्ञान केंद्र के विशेषज्ञ किसानों को नीम की पत्तियों और बीज से कीटनाशक बनाने का तरीका भी बताएंगे।
इससे रासायनिक कीटनाशक का उपयोग कम होगा और खेती की लागत कम होगी। इसका लाभ किसानों को मिलेगा।
इन सबको देखते हुए ही औषधीय पौधे लगाने का काम जगह—जगह चल रहा है।

Comments

Also read: कुपवाड़ा में आतंकी साजिश नाकाम, हथियारों का जखीरा बरामद ..

Afghanistan में तालिबान के आतंक के बीच यहां गूंज रहा हरे राम का जयकारा | Panchjanya Hindi

अफगानिस्तान का एक वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। जिसमें नवरात्रि के दौरान काबुल के एक मंदिर में हिंदू समुदाय लोग ‘हरे रामा-हरे कृष्णा’ का भजन गाते नजर आ रहे हैं।
#Panchjanya #Afghanistan #HareRaam

Also read: कोविड से मृत्यु होने वाले आश्रितों को धामी सरकार देगी 50 हजार ..

सीमांत क्षेत्र में बीआरओ प्रोजेक्ट की जिम्मेदारी महिला अधिकारी को
मुरादाबाद में तीन तलाक के दो मामले दर्ज

बरेली के स्मैक माफियाओं पर लगा सफेमा, 65 करोड़ की संपत्ति जब्त

बरेली जिले के दो स्मैक तस्करों पर पुलिस प्रशासन ने "सफेमा" कानून के तहत कार्रवाई की है। जिला प्रशासन ने आयकर विभाग की मदद से 65 करोड़ की संपत्ति को जब्त किया है। पश्चिम यूपी डेस्क बरेली जिले के दो स्मैक तस्करों पर पुलिस प्रशासन ने "सफेमा" कानून के तहत कार्रवाई की है। जिला प्रशासन ने आयकर विभाग की मदद से 65 करोड़ की संपत्ति को जब्त किया है। बरेली में मीरगंज, फतेहगंज के स्मैक के अड्डों को ध्वस्त करने के उद्देश्य से जिला प्रशासन ने चिट्टा या सफेदा का धंधा करने वाले दो बड़े ग ...

बरेली के स्मैक माफियाओं पर लगा सफेमा, 65 करोड़ की संपत्ति जब्त