पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

एक हजार से अधिक कन्वर्जन कराने वालों पर शिकंजा कसा, रिमांड पर लेने के बाद हो रही है पूछताछ

WebdeskJun 23, 2021, 12:50 PM IST

एक हजार से अधिक कन्वर्जन कराने वालों पर शिकंजा कसा, रिमांड पर लेने के बाद हो रही है पूछताछ

सुनील राय

एक हजार से अधिक कन्वर्जन कराने वाले अभियुक्तों -जहांगीर और उमर गौतम- की कस्टडी रिमांड मिलने के बाद पूछताछ चल रही है. यूपी पुलिस अन्य राज्यों की पुलिस से सम्पर्क करके इस गिरोह का नेटवर्क ढूंढ रही है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने  अभियुक्तों के  विरुद्ध सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं. 

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ‘कन्वर्जन’ के मामले में अभियुक्तों के विरुद्ध गैंगेस्टर एवं राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के अंतर्गत कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं. गिरफ्तार किये गए अभियुक्तों – उमर गौतम और जहांगीर- पर आरोप है कि भय और प्रलोभन देकर एक हजार से अधिक ‘कन्वर्जन’ कराया है. दिव्यांग छात्रों को भी निशाना बनाया गया.  एटीएस ने विवेचना में पाया कि षड्यंत्र के अंतर्गत कन्वर्जन कराया जा रहा था. नोएडा सेक्टर- 117 में नोएडा डेफ सोसायटी के एक केंद्र में कन्वर्जन कराया जा रहा था. वहां पर प्रशिक्षण लेने आए दिव्यांग बच्चों को भी कन्वर्जन का निशाना बनाया गया.

 

 

दिव्यांग छात्रों को बनाया निशाना 

नोएडा के मूक बधिर विद्यालय में प्रशिक्षण लेने वाले छात्र आदित्य कुमार गुप्ता का कन्वर्जन कराया गया. कन्वर्जन के बाद उसे दक्षिण के राज्य में ले जाया गया. काफी दिनों तक जब कोई खोज – खबर नहीं मिली तब उसके माता-पिता ने जनपद कानपुर नगर में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी. कन्वर्जन के इस बड़े गिरोह के पकड़ में आने के बाद उत्तर प्रदेश की एटीएस ने आदित्य के माता- पिता से पूछताछ की तो पता लगा कि आदित्य से वीडियो काल के माध्यम से बात हुई थी. एटीएस को यह भी जानकारी मिली कि एक अन्य दिव्यांग मन्नू यादव का भी कन्वर्जन कराया गया है.

 

गिरोह की फंडिंग का राज तलाश रही है एटीएस 

 

एटीएस, बलपूर्वक एवं  प्रलोभन देकर कराए गए कन्वर्जन की विवेचना कर रही है. कन्वर्जन कराने वाले अभियुक्तों को रिमांड पर लेने के बाद एटीएस इस गिरोह की पूरी कुंडली पता लगा रही है. गिरोह की फंडिंग, गिरोह के सदस्य, इसका नेटवर्क, कितने लोगों का कन्वर्जन कराया गया, कन्वर्जन के लिए किस प्रकार का प्रलोभन दिया गया या फिर डराया धमकाया गया. इन सभी पहलुओं के बारे में पता लगाया जा रहा है. अभियुक्तों पर आरोप है कि एक हजार से अधिक कन्वर्जन करा चुके हैं.

 

अन्य राज्यों के सम्पर्क में है यूपी पुलिस 

 उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार का कहना है कि ‘कन्वर्जन’ का यह बहुत बड़ा गिरोह है. प्रलोभन देकर कन्वर्जन कराए जाने का मामला संज्ञान में आया है. उत्तर प्रदेश पुलिस अन्य राज्यों की पुलिस के संपर्क में है. यह भी पता लगाया जा रहा है कि इस गिरोह का नेटवर्क, देश के किन प्रदेशों में फैला हुआ है. यह गिरोह लड़कियों की शादी मुस्लिम युवकों से कराने का पूरा कागजात भी तैयार करता था. 

 

heading -- Screws on those who made more than one thousand conversions

Comments

Also read: अब मुख्यमंत्री धामी ने 'एक जिला दो उत्पाद' पर काम करवाया शुरू ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: कासिम ने हिन्दू महिला से किया दुष्कर्म, मामला हुआ दर्ज ..

लापता पांच ट्रैकर्स के शव मिले, अभी भी चार लोगों का पता नहीं
बिहार के रास्ते हुई घुसपैठ, नेपाल में 11 अफगानी गिरफ्तार

कोरोना की तर्ज पर नियंत्रित होंगी वायरल बीमारियां

कोरोना की तर्ज पर उत्तर प्रदेश सरकार डेंगू, मलेरिया, कॉलरा एवं टाइफाइड आदि बीमारियों की घर – घर स्क्रीनिंग करायेगी. कोरोना काल में सर्विलांस टीम ने घर – घर जाकर कोरोना के मरीजों के बारे में जानकारी हासिल की थी. ठीक उसी प्रकार अब इन रोगों को भी नियंत्रित किया जाएगा   मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डेंगू, कॉलरा, डायरिया, मलेरिया समेत वायरल से प्रभावित जनपदों में विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. इसके साथ ही एटा, मैनपुरी और कासगंज में चिकित्सकों की टीम भेज दी गई है. दीपा ...

कोरोना की तर्ज पर नियंत्रित होंगी वायरल बीमारियां