पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

राज्य

तमिलनाडु: चर्च की आड़ में देह व्यापार, पादरी हुआ गिरफ्तार

WebdeskJul 16, 2021, 12:59 PM IST

तमिलनाडु: चर्च की आड़ में देह व्यापार, पादरी हुआ गिरफ्तार

फेडरल चर्च ऑफ इंडिया और पादरी लाल एन.एस. शाइन सिंह   (फाइल चित्र)


विदेशों में ही नहीं, भारत में भी मस्जिदों और चर्च में यौन शोषण, देह व्यापार होने की खबरें सामने आती रही हैं

कन्याकुमारी में एक चर्च में देह व्यापार में रत एक पादरी आखिरकार पुलिस की गिरफ्त में आ ही गया। उसके साथ पुलिस ने चार महिलाओं सहित कुल सात लोगों को गिरफ्तार किया है। पूछताछ में आरोपित पादरी और एक व्यक्ति, शिबिन ने चर्च में देह व्यापार का कारोबार चलाने का अपराध स्वीकार किया है।
तमिलनाडु के कन्याकुमारी स्थित 'फेडरल चर्च ऑफ इंडिया' के इस आरोपित पादरी का नाम है लाल एन.एस. शाइन सिंह। उसके माना है कि वह चर्च से देह व्यापार का कारोबार चला रहा था।  
‘द कम्युन’ में इस संबंध में रपट प्रकाशित की है। खबरों में अनुसार, 14 जुलाई को तमिलनाडु पुलिस ने जिस पादरी और सात अन्य को कन्याकुमारी के जिस चर्च में देह व्यापार चलाने के आरोप में पकड़ा है वह फेडरल चर्च ऑफ इंडिया एसटी मंगडु क्षेत्र में ज्योति नगर के 'डायोसिस आफ क्राइस्ट एंग्लिकन चर्च ऑफ इंडिया' से जुड़ा है। पता चला है कि पुलिस को वहां यह सब घृणित कार्य किए जाने की सूचना मिली थी, जिसके बाद पुलिस ने चर्च पर छापा मारा। वहां से पता चला कि इस चर्च में आलीशान कारों में अनेक आदमियों और औरतों का अक्सर आना—जाना होता था।   

फेडरल चर्च ऑफ इंडिया जिले के बड़े चर्च में से एक माना जाता है। इस जगह देह व्यापार में लिप्त पादरी लाल एन.एस. शाइन सिंह चर्च का संस्थापक और अध्यक्ष है। शुरुआती जांच में यह बात भी सामने आई है कि चर्च के आला अधिकारियों ने चर्च परिसर को देह व्यापार के कारोबार के लिए प्रयोग किया था। इसी खुफिया जानकारी के बाद पुलिस ने चर्च पर अचानक छापा मारा और अपराधियों को रंगे हाथ पकड़ा।                       

बताते हैं, यह फेडरल चर्च ऑफ इंडिया जिले के बड़े चर्च में से एक माना जाता है। इस जगह देह व्यापार में लिप्त पादरी लाल एन.एस. शाइन सिंह चर्च का संस्थापक और अध्यक्ष है। शुरुआती जांच में यह बात भी सामने आई है कि चर्च के आला अधिकारियों ने चर्च परिसर को देह व्यापार के कारोबार के लिए प्रयोग किया था। इसी खुफिया जानकारी के बाद पुलिस ने चर्च पर अचानक छापा मारा और अपराधियों को रंगे हाथ पकड़ा। रिपोर्ट में है कि पकड़ी गईं महिलाओं में एक 19 साल की लड़की भी है जिसकी मां ने उसे जबरदस्ती देह व्यापार में धकेला था।

पादरी बिशन लाल सहित अन्य गिरफ्तार लोगों के विरुद्ध स्थानीय निथिरविलई पुलिस थाने में अभियोग दर्ज करके आगे की कार्रवाई की जा रही है। बहरहाल, इन पंक्तियों के लिखे जाने तक   चर्च की ओर से इस संबंध में कोई बयान नहीं आया है।  

Follow Us on Telegram  
 

 
 

Comments
user profile image
Anonymous
on Jul 17 2021 16:32:16

राम रहीम की गुफा, आशाराम के आश्रमो की महीनों कवरेज, बहस दिखाने बाली चर्च के कुकर्मो पर मुँह में दही जमाकर बैठी है। क्योंकि ये चर्च पोषित मीडिया को शूट नही करता ।

Also read: उपलब्धि ! यूपी में 44 जनपद कोरोना मुक्त ..

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

Also read: अब सोनभद्र में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी, एफआईआर दर्ज ..

वैष्णो देवी यात्रा के लिए कोरोना की नई गाइडलाइन, RT-PCR टेस्ट जरूरी
कैप्‍टन के हमले के बाद बचाव की मुद्रा में कांग्रेस और पंजाब सरकार

बागपत में पकड़ा गया गोवंश से भरा कैंटर, डासना ले जा रहे थे गोकशी के लिए

मुर्स्लीम को पुलिस ने किया गिरफ्तार। कैंटर में भरे थे 60 गोवंश, बारह की हो गई थी मौत। बागपत में एक कैंटर से 60 गोवंश मिले। पुलिस ने जब कैंटर पकड़ा तो उसमें बारह मवेशी मरे थे और दस को चोट लगी थी जिन्हें इलाज के लिए गौशाला भेज दिया गया। पुलिस ने बताया कि बागपत से गाजियाबाद जा रहे एक कैंटर वाहन को जब शक के आधार पर रोका गया तो उसमें क्षमता से ज्यादा ठूसे हुए गोवंश मिले। जब गाड़ी खुलवाई गई तो दस गोवंश मृत मिले और दस गंभीर अवस्था मे घायल मिले। पुलिस के मुताबिक वाहन में 60 गोवंशी थे। इस मामले में मु ...

बागपत में पकड़ा गया गोवंश से भरा कैंटर, डासना ले जा रहे थे गोकशी के लिए