पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

कानपुर के 9 बैंक खातों से हो रही थी टेरर फंडिंग

WebdeskJul 26, 2021, 06:29 PM IST

कानपुर के 9 बैंक खातों से हो रही थी टेरर फंडिंग

अलकायदा के दो आतंकियों से पूछताछ में एटीएस को पता लगा है कि  कानपुर नगर के 13 बैंक खातों से टेरर फंडिंग  हो रही थी. इनमे से नौ ऐसे हैं, जिनमें पिछले छह महीने में 32 लाख रुपये का विदेश से लेन-देन भी हुआ. सभी खातों को सीज कर एटीएस हवाला कारोबारियों को तलाश रही है. इससे पहले आतंकी मिन्हाज और मुशीर को उनके मददगार शकील, मुस्तकीम और मुईद के सामने बिठाकर पूछताछ की गई थी.

गत 11 जुलाई को लखनऊ के काकोरी इलाके से मिन्हाज और मड़ियांव इलाके से मुशीर को एटीएस ने गिरफ्तार किया था. दोनों आतंकवादी मानव बम बनकर 15 अगस्त से पहले लखनऊ समेत कई शहरों में आतंकी घटना को अंजाम देने की योजना बना रहे थे.  एटीएस ने दोनों के कब्जे से विस्फोटक पदार्थ बरामद किया था. दोनों आतंकवादी अलकायदा समर्थित अंसार गजवा तुल हिंद संगठन के हैं. यह आतंकी संगठन उमर नाम का एक आतंकवादी चला रहे थे.

उत्तर प्रदेश के अपर पुलिस महानिदेशक (कानून एवं व्यवस्था) प्रशांत कुमार ने गिरफ्तारी के समय बताया था कि सूचना मिलने पर पुलिस ने मिनहाज अहमद के लखनऊ स्थित घर पर दबिश दी. मिनहाज़ घर पर मिल गया. उसके घर से भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद हुआ.  एक पिस्टल व आईईडी बरामद हुई.  बरामद हुई आईईडी को निष्क्रिय कराया गया. पुलिस की एक अन्य टीम ने अभियुक्त मशीरुद्दीन के लखनऊ स्थित घर पर दबिश देकर भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया.

जानकारी के अनुसार, अलकायदा समर्थित अंसार गजवा तुल हिंद संगठन एक आतंकी संगठन है. यह पेशावर व क्वेटा से संचालित किया जा रहा था. आतंकी उमर लखनऊ में जेहादी प्रवृत्ति के लोगों को तैयार कर रहा था. मिनहाज अहमद और मशीरुद्दीन उर्फ मुशीर इस संगठन के सदस्य हैं. उस समय पूछताछ के दौरान आतंकियों ने पुलिस को बताया था कि इस आतंकी षड्यंत्र में शामिल कुछ अन्य लोग भी शामिल थे

Follow Us on Telegram

 

Comments
user profile image
Anonymous
on Jul 27 2021 14:00:50

सभी आतंकियों को पकड़ा। जाय, सीधे जह्न्नम भेेजा जाय

Also read: प्रधानमंत्री के केदारनाथ दौरे की तैयारी, 400 करोड़ की योजनाओं का होगा लोकार्पण ..

Osmanabad Maharashtra- आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

#Osmanabad
#Maharashtra
#Aurangzeb
आक्रांता औरंगजेब पर फेसबुक पोस्ट से क्यों भड़के कट्टरपंथी

Also read: कांग्रेस विधायक का बेटा गिरफ्तार, 6 माह से बलात्‍कार मामले में फरार था ..

केरल में नॉन-हलाल रेस्तरां चलाने वाली महिला को इस्लामिक कट्टरपंथियों ने बेरहमी से पीटा
रवि करता था मुस्लिम लड़की से प्यार, मामा और भाई ने उतारा मौत के घाट

कथित किसानों का गुंडाराज

  कथित किसान आंदोलन स्थल सिंघु बॉर्डर पर जिस नृशंसता के साथ लखबीर सिंह की हत्या की गई, उससे कई सवाल उपजते हैं। यह घटना पुलिस तंत्र की विफलता पर सवाल तो उठाती ही है, लोकतंत्र की मूल भावना पर भी चोट करती है कि क्या फैसले इस तरीके से होंगे? किसान मोर्चा भले इससे अपना पल्ला झाड़ रहा हो परंतु वह अपनी जवाबदेही से नहीं बच सकता। मृतक लखबीर अनुसूचित जाति से था परंतु  विपक्ष की चुप्पी कई सवाल खड़े करती है रवि पाराशर शहीद ऊधम सिंह पर बनी फिल्म को लेकर देश में उनके अप्रतिम शौर्य के जज्बे ...

कथित किसानों का गुंडाराज