पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

बंगाल के गांव में 10 किलोमीटर पैदल चल कर पहुंची टीका लगाने वाली टीम

WebdeskJun 21, 2021, 03:16 PM IST

बंगाल के गांव में 10 किलोमीटर पैदल चल कर पहुंची टीका लगाने वाली टीम

देश में कोरोना टीकाकरण अभियान में जुटी टीम को टीका लगाने में तरह-तरह की चुनौतियों और मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। पश्चिम बंगाल के अलीपुरदुआर जिले के सुदूर एक गांव में पहुंचने के लिए स्‍वास्‍थ्‍यकर्मियों को 10 किलोमीटर से अधिक पैदल चलना पड़ा। जंगलों और पथरीले पहाड़ी रास्‍तों से होते हुए टीम न केवल गांव में पहुंची, बल्कि 45 साल से अधिक उम्र के लोगों को टीका भी लगाया।

अलीपुरदुआर के जिलाधिकारी सुरेंद्र कुमार मीणा ने बताया कि राज्‍य में दुआरे टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। जिले का अदमा गांव पश्चिम बंगाल के सबसे दूरदराज के इलाकों में से एक है। अन्‍य टीकाकरण केंद्र और उप-केंद्र वहां से बहुत दूर हैं। उन्‍होंने कहा, ‘‘हम 10-12 किलोमीटर का मैदानी और दुर्गम इलाका पार कर अदमा गांव पहुंचे। की दूरी तय करके इस स्थान पर पहुंचे और कठिन इलाके को पार करके हम पहुंचे। यह कार्यक्रम विशेष रूप से 45 वर्ष और उससे अधिक आयु वर्ग के लोगोंके लिए है ताकि उन्‍हें टीकाकरण के लिए दूर नहीं जाना पड़े। इसलिए जिला अधिकारियों, स्वास्थ्य अधिकारियों की एक टीम टीकाकरण के गांव पहुंची थी। लोग भी खुश थे, क्‍योंकि उन्‍हें टीकाकरण के लिए कहीं जाना नहीं पड़ा।’’

स्‍वच्‍छता बनाए रखने के लिए टीम ने लोगों में मास्‍क, सैनिटाइजर और अन्‍य आवश्‍यक चीजें भी बांटीं। मीणा नं कहा, ‘‘इस अभियान के तहत लगभग 50 लोगों को टीका लगाया गया है। हमारा लक्ष्य 100 लोगों को टीका लगाने का है। हम लाभार्थियों को टीकाकरण प्रमाण पत्र भी प्रदान कर रहे हैं।’’ एक लाभार्थी ने कहा, "यह देख कर अच्‍छा लगा कि हमें टीका लगाया गया है, यह सुनिश्चित करने के लिए जिलाधिकारी खुद आए। हम टीकाकरण को लेकर चिंतित थे, क्‍योंकि हमारा गांव बहुत दूर है। हमारे लिए जिला प्रशासन ने जो प्रयास किया, उसके लिए आभारी हैं।" इस बीच, केंद्रीकृत मुफ्त टीकाकरण महा-अभियान सोमवार से शुरू हो गया है। इसमे तहत 18 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को टीके लगाए जाएंगे।

Comments
user profile image
Anonymous
on Jun 21 2021 19:13:22

बंगाल में दुआारे टिकाकरण कुछ एक जगहों पर हो रहा है।कभी बाजर कामेटी तो कभी किसी दुआरे।टिकाकरण के मामले में अंतरिक होता तो शहर से लेकर गांव तक कितना छोटा छोट अस्पताल है हर अस्पतालों में थोड़ थोड़ा टिका वांट दिया होता लेकिन नहीं चुन चुन कर भिड़ इकट्ट किया जा रहा है

Also read: उत्तराखंड आपदा ने दस ट्रैकर्स की ली जान, 25 लोग अब भी लापता ..

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

kashmir में हिंदुओं पर हमले के पीछे ISI कनेक्शन आया सामने | Panchjanya Hindi

Also read: तालिबान प्रवक्ता ने कहा, भारत करेगा अफगानिस्तान में मानवीय सहायता के काम ..

मजहबी दंगे भड़काने में कट्टर जमाते-इस्लामी का हाथ, उन्मादी नेता ने उगला सच
रावण क्यों जलाया, अब तुम लोगों की खैर नहीं

उत्तराखंड में बढ़ती मुस्लिम आबादी, मुस्लिम कॉलोनी के विज्ञापन पर शुरू हुई जांच

बरेली, रामपुर, मुरादाबाद में प्रचार करके बेचे जा रहे हैं प्लॉट। पूर्व सांसद बलराज पासी ने कहा विरोध होगा उत्तराखंड के उधमसिंह नगर जिले में उत्तर प्रदेश के बरेली रामपुर जिलो के बॉर्डर पर सुनियोजित ढंग से एक साजिश के तहत मुस्लिम आबादी को बसाया जा रहा है। मुस्लिम कॉलोनी का प्रचार करके प्लॉट बेचे जा रहे हैं। मामले सामने आने पर जिला विकास प्राधिकरण ने जांच शुरू कर दी है। पिछले कुछ समय से उत्तराखंड राज्य में मुस्लिम आबादी तेजी से बढ़ने के आंकड़े आ रहे हैं। असम के बाद उत्तराखंड ऐसा राज्य है, जहां ...

उत्तराखंड में बढ़ती मुस्लिम आबादी, मुस्लिम कॉलोनी के विज्ञापन पर शुरू हुई जांच