पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

चर्चित आलेख

बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के पास बम धमाका, पाकिस्तानी हुकूमत में मची खलबली

WebdeskOct 19, 2021, 12:56 PM IST

बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के पास बम धमाका, पाकिस्तानी हुकूमत में मची खलबली
बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के पास हुए बम धमाके के बाद जलते वाहन

बलूचिस्तान में बार-बार हो रहे बम धमाकों की कड़ी में हुए इस एक और धमाके ने पाकिस्तानी हुकूमत में खलबली पैदा कर दी है


पाकिस्तान में बलूचिस्तानकी राजधानी क्वेटा में कल शाम एक जबरदस्त बम धमाका हुआ। शहर में सरियाब रोड पर स्थित बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के निकट हुए इस धमाके में अभी तक एक आदमी के मारे जाने तथा पांच पुलिसकर्मियों सहित करीब 17 लोगों के घायल होने की खबर मिली है।

बलूचिस्तान में बार—बार हो रहे बम धमाकों की कड़ी में हुए इस एक और धमाके ने पाकिस्तानी हुकूमत में खलबली पैदा कर दी है। इसके कारणों का पता लगाया जा रहा है क्योंकि यह धमाका राजधानी क्वेटा में बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के एकदम नजदीक सरियाब रोड पर उस जगह किया गया जहां एक पुलिस की गाड़ी खड़ी थी। इस जबरदस्त बम धमाके की खबर मिलते ही पुलिस और अन्य सुरक्षा बल मौके पर पहुंचकर मामले को संभालने और घायलों को अस्पताल ले जाने में जुट गए। इलाके की घेराबंदी करके घटना की जांच शुरू कर दी गई है। इधर मीडिया में आई खबरों के अनुसार, धमाके की जिम्मेदारी प्रतिबंधित बलोच लिबरेशन आर्मी ने ली है।

इससे पूर्व गत 25 सितंबर को भी बलूचिस्तान के हरनाई जिले में खोसाट में बम धमाका किया गया था। यह धमाका फ्रंटियर फोर्स की गाड़ी को निशाना बनाकर किया गया था जिसमें सुरक्षाकर्मी जा रहे थे। उस घटना में चार जवानों की मौत हुई थी तथा दो अन्य घायल हुए थे। उस धमाके की जिम्मेदारी भी प्रतिबंधित गुट बलोच लिबरेशन आर्मी ने ही ली थी।

यह बम धमाका राजधानी क्वेटा में बलूचिस्तान यूनिवर्सिटी के एकदम नजदीक सरियाब रोड पर उस जगह किया गया जहां एक पुलिस की गाड़ी खड़ी थी। इस जबरदस्त बम धमाके की खबर मिलते ही पुलिस और अन्य सुरक्षा बल मौके पर पहुंचकर मामले को संभालने और घायलों को अस्पताल ले जाने में जुट गए। इलाके की घेराबंदी करके घटना की जांच शुरू कर दी गई है। इधर मीडिया में आई खबरों के अनुसार, धमाके की जिम्मेदारी प्रतिबंधित बलोच लिबरेशन आर्मी ने ली है। 

पिछले कुछ वक्त से बलूचिस्तान में बलोच लिबरेशन आर्मी की गतिविधियों में तेजी देखी जा रही है। बताते हैं, वह पाकिस्तान द्वारा बलूचों पर ढाए जा रहे अत्याचारों और दमन के विरोध में ऐसी कार्रवाइयां कर रही है। बलूचिस्तान में बड़े पैमाने पर पाकिस्तानी फौज बलूच युवकों पर जुल्म ढाती आ रही है। वहां जबरदस्त बेरोजगारी है। कितने ही बलूच युवक 'लापता' हैं, महिलाओं के साथ खुलेआम दुर्व्यवहार किया जाता है, विरोध में उठनी वाली आवाजों को पाकिस्तानी फौज सख्ती से कुचलती आई है। इस्लामाबाद ऐसे तमाम आरोपों से इनकार ही करता आया है। बलूच अंतरराष्ट्रीय मंचों पर भी इसके खिलाफ आवाज उठाते रहे हैं, लेकिन पाकिस्तानी हुक्मरान उनसे सौतेला व्यवहार ही करते आए हैं। बलूच नेताओं का  आरोप है कि पाकिस्तान उन्हें गुलाम बनाए हुए है और उन पर जबरन कब्जा किए हुए है। बलूचिस्तान से लगातार आजादी की मांग उठती रही है।  


    

Comments
user profile image
Anonymous
on Oct 20 2021 22:02:09

भारत की सरकार बने क्योंकि रक्षा यहां से नहीं कर सकती है लेकिन कई तरीके से मनुष्यों की रक्षा भारत के मरने की जा सकती है कोई प्राइवेट मोसाद और हमास जैसे संगठन में काम कर सकते हैं

Also read:संसद भवन पर खालिस्तानी झंडा फहराने की साजिश, खुफिया विभाग ने किया अलर्ट ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:जी उठे महाराजा ..

नेताओं, अफसरों ने की एयर इंडिया की दुर्दशा
धर्म और हिंदुत्व भारतीय इतिहास के मूलाधार हैं: डॉ मोहन भागवत

अयोध्या में मस्जिद के लिए जगह देना अनुचित, यहां तीन-तीन पाकिस्तान बनाने की होगी तैयारी : शंकराचार्य

धर्म, विज्ञान और रक्षा के प्रति जागरुक हैं प्रधानमंत्री, यह देश के लिए शुभ: शंकराचार्य   हल्द्वानी में गोवर्धन पुरी पीठ के शंकराचार्य निश्चलानंद सरस्वती जी ने कहा कि देश के वर्तमान प्रधानमंत्री धर्म, विज्ञान और रक्षा के प्रति आस्था और जागरुक परिलक्षित होते दिखाई देते हैं, जो देश के लिए शुभ है। यह देश हिन्दू राष्ट्र घोषित होना चाहिए। शंकराचार्य ने अयोध्या में मस्जिद के लिए जगह देने को अनुचित करार देते हुए कहा कि आने वाले समय मे काशी, मथुरा में भी इसकी पुनरावृत्ति होगी और यहां मक्का जैस ...

अयोध्या में मस्जिद के लिए जगह देना अनुचित, यहां तीन-तीन पाकिस्तान बनाने की होगी तैयारी : शंकराचार्य