पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

पाकिस्तान के पूर्व राजदूत ने की भारत की तारीफ, जम्मू-कश्मीर में दुबई के निवेश को बताया पाकिस्तान की हार

आलोक गोस्वामी

आलोक गोस्वामीOct 22, 2021, 05:04 PM IST

पाकिस्तान के पूर्व राजदूत ने की भारत की तारीफ, जम्मू-कश्मीर में दुबई के निवेश को बताया पाकिस्तान की हार
2019 में अबु धाबी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वहां के युवराज शेख मोहम्मद बिन जायेद अल नाह्यान के साथ अपनी चर्चा में उन्हें जम्मू-कश्मीर में निवेश करने का न्योता दिया था (फाइल चित्र)

जम्मू-कश्मीर में तमाम योजनाओं, जैसे ढांचागत निर्माण, आईटी पार्क, आईटी टावर सहित कुछ अन्य में दुबई द्वारा निवेश की दिलचस्पी दिखाने और इस संबंध में करार पर दस्तखत करने से पाकिस्तान बेहद परेशान है


दुबई के साथ भारत के जम्मू-कश्मीर में विभिन्न परियोजनाओं को लेकर हुए निवेश के समझौते से पाकिस्तानी नेताओं और नीतिकारों को तीखी मिर्ची लगी है। अभी तीन दिन पहले दुबई ने जब भारत के साथ इस करार पर दस्तखत किए हैं तबसे रोजाना किसी न किसी नेता या कूटनीतिक का इस बारे में आने वाला बयान सीमा पार छाई 'मायूसी' की झलक दे रहा है। ताजा मिसाल भारत में पाकिस्तान के पूर्व राजदूत की है जिन्होंने कश्मीर में दुबई के निवेश करने को भारत की बड़ी जीत और पाकिस्तान की बड़ी हार बताया है।

इसमें संदेह नहीं है कि कश्मीर में तमाम योजनाओं जैसे ढांचागत निर्माण, आईटी पार्क, आईटी टावर सहित कुछ अन्य में दुबई द्वारा निवेश की दिलचस्पी दिखाने और इस संबंध में करार पर दस्तखत करने से पाकिस्तान परेशान तो है। वह पाकिस्तान जो अनुच्छेद 370 हटने के बाद से ही कश्मीर में कोई बड़ा उत्पात मचाने की फिराक में है। जो वहां लगातार आतंकी वारदातों को अंजाम देने के लिए साजिशें रचता आ रहा है।

ऐसे में दुबई के इस कदम से उसे तगड़ा झटका लगना ही था। एक तरफ मध्य पूर्व के सबसे महत्वपूर्ण और अमीर शहर के नाते प्रसिद्ध दुबई का जम्मू और कश्मीर में निवेश करने का फैसला भारत की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जबकि दूसरी तरफ इससे पाकिस्तान के उन षड्यंत्री नीतिकारों के हौसले पस्त हुए हैं जो भारत विरोध की भावनाएं भड़काने और भारत में आतंकवाद फैलाने की नित नई चालें रचते हैं, आईएसआई के जरिए अपने यहां पल रहे आतंकियों से भारत में, विशेषकर जम्मू-कश्मीर में निर्दोषों की हत्या करवा रहे हैं। हाल ही में कश्मीर घाटी में हिंदुओं की चुन-चुनकर की गईं हत्याएं पाकिस्तानी शैतानी की गवाह हैं।

पूर्व राजदूत अब्दुल बासित   
मध्य पूर्व के सबसे महत्वपूर्ण और अमीर शहर के नाते प्रसिद्ध दुबई का जम्मू-कश्मीर में निवेश करने का फैसला भारत की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है। जबकि दूसरी तरफ इससे पाकिस्तान के उन षड्यंत्री नीतिकारों के हौसले पस्त हुए हैं जो भारत विरोधी भावनाएं भड़काने और भारत में आतंकवाद फैलाने की नित नई चालें रचते हैं।


भारत में पाकिस्तान के राजदूत रहे अब्दुल बासित ने तो भारत के साथ इस दुबई समझौते को भारत की बड़ी जीत बताया है। पूर्व राजदूत बासित के इस बयान को लेकर पाकिस्तान में बेचैनी का आलम है। बासित ने अपने बयान में कहा,''साफ है कि पाकिस्तान के हाथों से मुद्दा फिसल रहा है। हम अंधेरे में हाथ-पैर मारने की कोशिश कर रहे हैं।

लगता है कि कश्मीर नीति रह ही नहीं गई है। यह अफसोस की बात है। वर्तमान सरकार का लापरवाही का यह रवैया उसे ही परेशान करेगा। पहले की सरकार ने भी कश्मीर पर पाकिस्तान की नीति कमजोर की थी। यह करार पाकिस्तान तथा जम्मू-कश्मीर दोनों के लिहाज से भारत की बड़ी जीत है।''
 

Comments

Also read:पकड़ी गई ढाका की फातिमा, पुलिस ने बरामद की पाकिस्तान में बनी श्रीलंका के रास्ते आई 7 ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:पकड़ी गई ढाका की फातिमा, पुलिस ने बरामद की पाकिस्तान में बनी श्रीलंका के रास्ते आई 7 ..

चीनी कर्ज के मकड़जाल में फंसे युगांडा के एकमात्र हवाई अड्डे पर हुआ ड्रैगन का कब्जा
ग्‍वादर में अपने सम्‍मान के लिए 12 दिनों से प्रदर्शन कर रहे हजारों बलूच

पाकिस्तानियों के दिल से उतरे इमरान खान, 87 प्रतिशत जनता ने माना-देश गलत राह पर

प्रधानमंत्री इमरान खान ने लोगों के भरोसे को और डगमगाते हुए बयान दिया है कि देश का व्यापार घाटा इतना ज्यादा हो गया है कि सरकार को आईएमएफ के सामने हाथ फैलाने पड़े हैं   पाकिस्तान के आम लोग अब इमरान से खुश नहीं हैं। वे कहते हैं कि उनका देश इस सरकार के राज में गलत दिशा में बढ़ रहा है। आम जनता में अब कल के सुनहरे होने की आस टूटती जा रही है। यह खुलासा हुआ है पेरिस की एक कंपनी के ​हालिया सर्वे में। जबकि दो दिन पहले ही प्रधानमंत्री इमरान खान ने लोगों के भरोसे को और डगमगाते हुए बयान दिया है कि ...

पाकिस्तानियों के दिल से उतरे इमरान खान, 87 प्रतिशत जनता ने माना-देश गलत राह पर