पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

अब बोत्सवाना में दिखा कोरोना का ज्यादा संक्रामक 'वेरिएंट', डब्ल्यूएचओ हुआ सतर्क

Webdesk

WebdeskNov 26, 2021, 10:42 AM IST

अब बोत्सवाना में दिखा कोरोना का ज्यादा संक्रामक 'वेरिएंट', डब्ल्यूएचओ हुआ सतर्क
प्रतीकात्मक चित्र

ब्रिटेन में कोरोना वायरस के इस नए म्यूटेशन से हड़कंप मच गया है। उसने अफ्रीका के छह देशों को खतरे वाली लाल सूची में डालकर वहां से उड़ानों पर रोक लगा दी है


यूके की मीडिया से एक चौंकाने वाली खबर मिली है। प्राप्त जानकारी के अनुसार, यूके के वैज्ञानिक दक्षिण अफ्रीकी देश बोत्सवाना में एक कोरोना वायरस स्ट्रेन को लेकर चिंता व्यक्त कर रहे हैं। उनका कहना है कि कोराना वायरस का यह स्ट्रेन या स्वरूप ज्यादा संक्रामक और टीके से बेअसर रहने वाला है। बोत्सवाना में इसके मामले तेजी से बढ़ते देखे गए हैं। बताते हैं, इस स्ट्रेन में 32 म्यूटेशन हैं। ब्रिटेन इस वायरस को लेकर इतना सतर्क हो गया है कि उसने करीब छह अफ्रीकी देशों को लाल सूची में डालते हुए वहां से उडानों पर रोक लगा दी है। 

इधर रूस की एक समाचार एजेंसी का कहना है कि कई म्यूटेशन के मायने हैं कि ये बेहद संक्रामक है, जिस पर टीके का खास असर नहीं होता। दूसरे तमाम कोविड 19 स्वरूपों से इसकी तुलना करें तो स्पाइक प्रोटीन स्ट्रेन में म्यूटेशन ज्यादा देखे गए हैं। दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रीय संक्रामक रोग संस्थान ने भी पुष्टि की है कि दक्षिण अफ्रीका में एक नया कोरोना वायरस स्ट्रेन देखने में आया है।

 

इस वेरिएंट में बड़ी संख्या में स्पाइक प्रोटीन म्यूटेशन के साथ-साथ वायरल जीनोम के दूसरे भागों में म्यूटेशन भी शामिल हैं। कोरोना वायरस का ये इतना घातक स्वरूप है कि ज्यदा संक्रमण वाला और टीका रोधी है। इस म्यूटेशन की आगे जांच किए जाने की आवश्यकता है। यह वक्त बहुत संभलकर रहने वाला है। सर्दियों की शुरुआत में संक्रमण के ज्यादा आसार होते हैं। 

 

उल्लेखनीय है कि ब्रिटेन के स्वास्थ्य मंत्री साजिद जावेद ने 25 नवम्बर को छह देशों की उड़ानों को फिलहाल रोकने की घोषणा की है। उनका बयान दक्षिण अफ्रीका में 30 से ज्यादा म्यूटेशन वाले उक्त नए कोविड वेरिएंट के तेजी से फैलने की खबरों को देखते हुए आया है। यूके की स्वास्थ्य सुरक्षा संस्थान ने भी बयान जारी किया है कि इस वेरिएंट में बड़ी संख्या में स्पाइक प्रोटीन म्यूटेशन के साथ-साथ वायरल जीनोम के दूसरे भागों में म्यूटेशन भी शामिल हैं। कोरोना वायरस का ये इतना घातक स्वरूप है कि ज्यदा संक्रमण वाला और टीका रोधी है। इस म्यूटेशन की आगे जांच किए जाने की आवश्यकता है। 

जावेद का कहना है कि यह वक्त बहुत संभलकर रहने वाला है। सर्दियों की शुरुआत में संक्रमण के ज्यादा आसार होते हैं। मीडिया में आए समाचारों के अनुसार नए कोविड -19 वेरिएंट को लेकर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) भी सतर्क हो गया है। उसने दक्षिण अफ्रीका तथा बोत्सवाना में तेजी से फैलने के आसार वाले कोविड 19 के इस स्वरूप पर बात करने के लिए आज एक आपातकालीन बैठक बुलाई है।


 

Comments

Also read:तालिबान का मीडिया के लिए नया फरमान, सरकार विरोधी रिपोर्ट छापी तो खैर नहीं ..

UP Chunav: Lucknow के इस मुस्लिम भाई ने खोल दी Akhilesh-Mulayam की पोल ! | Panchjanya

योगी जी या अखिलेश... यूपी का मुसलमान किसके साथ? इसको लेकर Panchjanya की टीम ने लखनऊ में एक मुस्लिम रिक्शा चालक से बात की. बातों-बातों में इस मुस्लिम भाई ने अखिलेश और मुलायम की पोल खोलकर रख दी.सुनिए ये योगी जी को लेकर क्या सोचते हैं और यूपी में 2022 में किसपर भरोसा करेंगे.
#Panchjanya #UPChunav #CMYogi

Also read:करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में बिना सिर ढके पाकिस्तानी मॉडल ने खिंचवाई तस्वीरें, सिख श ..

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने दिल खोलकर की भारत की तारीफ, बताया-सबसे अच्छा देश!
कम्युनिस्ट चीन की सेना में बड़े पैमाने पर भर्ती और आधुनिकीकरण के पीछे जिनपिंग की मंशा क्या?

पाकिस्तान के हैदराबाद में हिन्दू महिला सोनारी मंदिर में पढ़ाती है कबीले के बच्चों को

सोनारी जब चौथी कक्षा में थी तभी ठान लिया था कि क़बीले के बच्चों को पढ़ना—लिखना सिखाएगी। हुसैनाबाद के एक स्कूल से मैट्रिक तक की पढ़ाई करने के बाद 2004 में सोनारी की शादी हुई और वह फलीली नहर कालोनी में अपने ससुराल आ गई  एक अनूठी कहानी का पता चला है पाकिस्तान के हैदराबाद शहर में। एक हिन्दू राजपूत महिला सोनारी बागड़ी यहां के एक मंदिर में आसपास के बच्चों को शिक्षित बनाने में जुटी है। वह यहां एक स्कूल चला रही है। अपने टोले में वह पहली ऐसी महिला है जो मैट्रिक पास है। हैदराबाद में फली ...

पाकिस्तान के हैदराबाद में हिन्दू महिला सोनारी मंदिर में पढ़ाती है कबीले के बच्चों को