पाञ्चजन्य - राष्ट्रीय हिंदी साप्ताहिक पत्रिका | Panchjanya - National Hindi weekly magazine
Google Play पर पाएं
Google Play पर पाएं

विश्व

म्यांमार से खतरा भांपकर चीन ने सीमा पर लगाए कैमरे और ड्रोन

Webdesk

WebdeskNov 26, 2021, 04:02 PM IST

म्यांमार से खतरा भांपकर चीन ने सीमा पर लगाए कैमरे और ड्रोन
प्रतीकात्मक चित्र

चीन को पता चला है कि म्यांमार के कुछ जनजातीय गुट चीन के अक्खड़पन और विस्तारवादी रवैए से काफी गुस्से में हैं। संभव है वे अंतरराष्ट्रीय सीमा पर चीन को कुछ नुकसान पहुंचा सकते हैं


चीन अपनी सीमाओं को उच्च तकनीकी निगरानी से लैस करने में जुटा है। यह कदम उसने खास तौर पर म्यांमार से सटी अपनी 660 किमी. लंबी अंतरराष्ट्रीय सीमा पर उठाया है। इस सीमा पर चीन ने उच्च तकनीकी बाड़ लगाई है और अब आगे 2000 किमी. की पूरी सीमा पर वह इसी तरह की बाड़ लगाने के काम में जुटा है। 

दरअसल चीन को म्यांमार से खतरे का अहसास हो रहा है। भारत के साथ चीन के चल रहे सीमा विवाद और तनाव के बीच चीन की कम्युनिस्ट सरकार दूसरे पड़ोसी देशों को भी अपनी विस्तारवादी नीति से परेशान करती आ रही है। म्यांमार में चीन की ऐसी साजिशों को लेकर तनाव और आक्रोश पनपता रहा है। चीन को यह भी मालूम पड़ा है कि म्यांमार के कुछ जनजातीय गुट चीन के अक्खड़पन और विस्तारवादी रवैए से काफी गुस्से में हैं और वे अंतरराष्ट्रीय सीमा पर चीन को कुछ नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसी खतरे को भांपते हुए ड्रैगन ने म्यांमार से सटी अपनी दो हजार किलोमीटर लंबी सीमा को उच्च तकनीकी बाड़ से घेरने का काम शुरू किया हुआ है। इसमें से 660 किलोमीटर की सीमा पर यह काम पूरा हो चुका है। बताते हैं, तीन स्तरीय बाड़ के साथ साथ उसने निगरानी कैमरे और ड्रोन तैनात किए हैं। उसका इरादा 2022 तक पूरी दो हजार किलोमीटर लंगी सीमा पर ऐसी ही चौकस निगरानी से लैस करना है। 

 

चीन की हरकतों से जुड़ी इस खबर पर भी गौर करना होगा कि भारत के उत्तर पूर्व में चीन अराजकता पैदा करने की कोशिश में है। पता चला है कि वह अपने यहां के उग्रपंथी गुटों को अपनी सेना के साथ युद्धाभ्यास कराता है। विशेषज्ञों के अनुसार, उसकी मंशा संभवत: भारत के उत्तर पूर्वी राज्यों में इन उग्रपंथी गुटों के जरिए अव्यवस्था फैलाकर भारत को अस्थिर करना चाहता है। 

 

उच्च तकनीकी वाली इस तारबंदी को फिलहाल चीन के युन्नान प्रांत से सटी सीमा पर पूरा कर लिया गया है। लेकिन जानकारों को अब भी संदेह है कि अगर चीन की हरकतें नहीं सुधरीं और उसने म्यांमार की सीमाओं में घुसपैठ की नीति नहीं छोड़ी तो वहां के जनजातीय गुट उसकी नापाक कोशिशों के विरुद्ध जवाबी कार्रवाई कर सकते हैं। पता यह भी चला है कि पिछले कुछ साल में इन गुटों के पास अत्याधुनिक हथियार पहुंच चुके हैं और इनकी मारक क्षमता बढ़ गई है। ऐसे में चीन को यह डर सताना स्वाभाविक ही था कि ये गुट उसकी सीमा का अतिक्रमण करके उसके सीमांत इलाकों में किसी गंभीर वारदात को अंजाम न दे दें। कहीं इन गुटों की अगुआई में विरोध का कोई बड़ा अभियान न छिड़ जाए। 

इसके साथ ही चीन की हरकतों से जुड़ी इस खबर पर भी गौर करना होगा कि भारत के उत्तर पूर्व में चीन अराजकता पैदा करने की कोशिश में है। पता चला है कि वह अपने यहां के उग्रपंथी गुटों को अपनी सेना के साथ युद्धाभ्यास कराता है। विशेषज्ञों के अनुसार, उसकी मंशा संभवत: भारत के उत्तर पूर्वी राज्यों में इन उग्रपंथी गुटों के जरिए अव्यवस्था फैलाकर भारत को अस्थिर करना चाहता है। 

Comments

Also read:Twitter ने सरकारी दुष्प्रचार करने वाले चीनी खाते किए बंद, उइगरों पर कम्युनिस्ट सरकार ..

UPElection2022 - यूपी की जनता का क्या है राजनीतिक मूड? Panchjanya की टीम ने जनता से की बातचीत सुनिए

up election 2022 क्या कहती है लखनऊ की जनता ? आप भी सुनिए जानिए
up election 2022 opinion poll
UP Assembly election 2022

up election 2022
up election 2022 opinion poll
UP Assembly election 2022

Also read:भारत, ताइवान को बुलाया, चीन को ठेंगा दिखाया ..

तालिबान का मीडिया के लिए नया फरमान, सरकार विरोधी रिपोर्ट छापी तो खैर नहीं
करतारपुर साहिब गुरुद्वारे में बिना सिर ढके पाकिस्तानी मॉडल ने खिंचवाई तस्वीरें, सिख श्रद्धालुओं में आक्रोश

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने दिल खोलकर की भारत की तारीफ, बताया-सबसे अच्छा देश!

चायनीज वायरस कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के खतरे के बीच अफ्रीकी देशों के लिए भारत के मदद का हाथ बढ़ाने पर पीटरसन हुए बाग-बाग  कोरोना के विरुद्ध जंग में भारत की उल्लेखनीय वैश्विक भूमिका ने इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने आगे बढ़कर खुले दिन से को भारत की प्रशंसा की है। पीटरसन ने कोरोना के नए और ज्यादा संक्रामक माने जा रहे वेरिएंट ओमीक्रोन से ग्रस्त देशों की सहायता के लिए खुद को प्रस्तुत करने पर भारत की खुलकर तारीफ की है। अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है कि 'एक बार फिर भारत न ...

इंग्लैंड के पूर्व क्रिकेटर केविन पीटरसन ने दिल खोलकर की भारत की तारीफ, बताया-सबसे अच्छा देश!